असम भाजपा बार-बार कर रही है पुकार, रमन सिंह जी को असम मत भेजो इस बार : कांग्रेस

०० रमन सिंह के असम में चुनाव प्रचार करने से कांग्रेस को लाभ होगाः मोहन मरकाम

रायपुर। डॉ. रमन सिंह के असम दौरे पर तंज कसते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि डॉ रमन सिंह के 15 साल के शासन काल के बाद जो हाल भाजपा का 2018 के विधानसभा चुनाव में हुआ वही स्थिति रमन सिंह जी के असम दौरे के बाद होने जा रही है भाजपा के दिग्गज नेता और मोदी के सहयोगी अमित शाह ने छत्तीसगढ़ आकर मिशन 65 प्लस का दावा किया था लेकिन डॉ रमन सिंह के कार्यकाल के कारण भाजपा छत्तीसगढ़ में 15 सीटों से भी कम में सिमट कर रह गई अब रमन सिंह जी का असम दौरा छत्तीसगढ़ जैसी ही स्थिति असम में निर्मित करने जा रहा है इसीलिए असम के भाजपा नेता बार-बार भाजपा राष्ट्रीय नेतृत्व से अपील कर रहे हैं कि रमन सिंह जी को असम ना भेजा जाए|

डॉ रमन सिंह जी के छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहते हुए लिए गए किसान विरोधी, जन विरोधी, गरीब विरोधी फैसलों की जानकारी आसाम के मतदाताओं और असम के भाजपा नेताओं को पहले ही मिल चुकी है इसे देखते हुए असम भाजपा बार-बार कर रही है पुकार कि रमन सिंह जी को असम मत भेजो इस बार। असम में भाजपा में गुटबाजी है लेकिन रमन सिंह को वहां प्रचार के लिए न बुलाया जाए इस बात पर असम भाजपा एकजुट है। असम भाजपा ने हाईकमान से कहा कि नान घोटाला, चावल घोटाला, पनामा पेपर्स जैसे घोटालो अंखफोड़वा कांड, गर्भाशय कांड, नसबंदी कांड, डीकेएस घोटाला के आरोपी और कमीशनखोरी को संरक्षण देने के आरोपी को असम में चुनावी समय में बुलाना भाजपा की चुनावी संभावनाओं को बुरी तरह से नुकसान पंहुचायेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि रमन सिंह के 15 साल के शासनकाल में काला कारनामा, कमीशनखोरी, भ्रष्टाचार, किसानों से वादाखिलाफी, आदिवासी वर्ग पर अत्याचार, आदिवासियों की जमीन छीनना, युवाओं की नौकरी को आउट सोर्सिंग के जरिये बेचना सहित अनेक घटनाओं, घोटालों को असम ही नहीं पूरा देश जानता है। ऐसे रमन सिंह का असम में चुनाव प्रचार करना कांग्रेस के लाभप्रद है। कांग्रेस की जीत आसान होगी। रमन सिंह को असम में दो दिन नहीं बल्कि चुनाव समाप्त तक प्रचार की जिम्मेदारी देनी चाहिये।

error: Content is protected !!