वीरांगना अवन्ती बाई लोधी ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

०० मुख्यमंत्री वीरांगना रानी अवन्ती बाई लोधी बलिदान दिवस कार्यक्रम में हुए शामिल

०० जोगी दल्ली गांव के शीतला तालाब सौन्दर्यीकरण, सामुदायिक भवन निर्माण, नवीन पंचायत भवन निर्माण, शमशानघाट में सड़क निर्माण की घोषणा

०० सर्व समाज भवन के लिए 10 लाख रूपए और लाल बहादुर नगर में सामाजिक भवन निर्माण के लिए 15 लाख रूपए की मंजूरी

रायपुर| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज राजनांदगांव जिले के ग्राम जोगी दल्ली में आयोजित वीरांगना रानी अवन्ती बाई लोधी बलिदान दिवस के कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने वीरांगना रानी अवन्ती बाई लोधी की प्रतिमा का अनावरण कर उनको नमन किया। अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि वीरांगना रानी अवन्ती बाई लोधी ने देश की आजादी और स्वाभिमान की रक्षा के लिए अंग्रेजों से युद्ध किया। देश के हित में अपने प्राणों का बलिदान देने वाली विभूतियां किसी एक समाज एवं धर्म के नहीं होते बल्कि संपूर्ण समाज के लिए आदरणीय होती हैं।उन्होंने कहा कि लोधी समाज का भी प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। लोधी समाज छŸाीसगढ़ सहित उŸारप्रदेश, मध्यप्रदेश एवं अन्य प्रदेशों में निवासरत है। लोधी समाज के लोग विशेषकर खेती-किसानी से जुड़े हुए हैं। खेती-किसानी की स्थिति को सुधारने के लिए प्रदेश में नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना संचालित की जा रही है। जिले में सिंचाई सुविधाएं तो हैं लेकिन पर्याप्त सिंचाई के लिए नरवा बनाकर जल स्तर बढ़ाने की आवश्यकता है, ताकि सतही एवं भूमिगत जल का उपयोग किया जा सके। इससे वॉटर रिचार्जिंग होगा। मुख्यमंत्री ने गांव के शीतला तालाब सौन्दर्यीकरण, सामुदायिक भवन निर्माण, नवीन पंचायत भवन निर्माण, शमशानघाट में सड़क निर्माण की घोषणा की तथा सर्व समाज के भवन निर्माण के लिए 10 लाख रूपए और लाल बहादुर नगर में 15 लाख रूपए की लागत से सामाजिक भवन निर्माण की घोषणा की।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि गोधन न्याय योजना के तहत 44 लाख क्विंटल गोबर की खरीदी की गई। कई ग्रामवासियों ने धान और गोबर का विक्रय कर वाहन खरीदा। सुराजी ग्राम योजना छŸाीसगढ़ की परंपरा को पुनर्जीवित करने की योजना है। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 21 मार्च को सभी किसानों के खाते में चौथी किश्त की राशि प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए इस वर्ष 5 हजार 703 करोड़ रूपए का बजट रखा गया है। किसान को कोई दिक्कत नहीं हो, इसके लिए शासन की ओर से हरसंभव कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की अर्थव्यवस्था मजबूत बनाने के लिए शासन द्वारा धान खरीदी की जा रही है, वहीं कर्ज माफी भी की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 44 प्रतिशत महिलाओं में खून की कमी है। हमारी बेटियों एवं बहनों में शारीरिक कमजोरी नहीं होना चाहिए। सशक्त छŸाीसगढ़ के निर्माण के लिए विभिन्न अभियान के तहत 99 हजार बच्चों को कुपोषण मुक्त किया गया तथा 20 हजार महिलाओं में रक्त की कमी दूर हुई है। उन्होंने कहा कि बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए प्रदेश के सभी विकासखंडों में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल आरंभ किया जा रहा है। नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने कहा कि रानी अवन्ती बाई ने जिस शौर्य एवं पराक्रम से समाज को आगे बढ़ाया है, ऐसे ही आगे बढ़ाएं। अध्यक्ष अनुसूचित जाति प्राधिकरण एवं डोंगरगढ़ विधायक श्री भुनेश्वर बघेल ने कहा कि रानी अवन्ती बाई ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया। इस अवसर पर अध्यक्ष अन्य पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण एवं डोंगरगांव विधायक श्री दलेश्वर साहू, अध्यक्ष छŸाीसगढ़ अंत्यावसायी सहकारी विŸा एवं विकास निगम श्री धनेश पाटिला, राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष श्री विवेक वासनिक, श्री पदम कोठारी एवं जनप्रतिनिधि सहित लोधी समाज के अनेक पदाधिकारी, ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। कार्यक्रम के आरंभ में लोधी समाज के अध्यक्ष श्री कमलेश्वर वर्मा ने स्वागत भाषण दिया।

error: Content is protected !!