बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर भाजपा ने फूंका मुख्यमंत्री का पुतला, प्रदर्शन में दिखा आमजन का आक्रोश

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आज सभी मण्डलों में बिगड़ती कानून व्यवस्था, लूट, चोरी, बलात्कार व हत्या जैसे संगीन अपराधों के आम होने के विरोध में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला फूका। मुुख्यमंत्री के पुतला दहन में भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा रायपुर शहर जिला के कार्यकर्ता ने सभी मण्डलों में बढ़ चढ़कर हिस्ला लिया । इस संबंध में पिछड़ा वर्ग मोर्चा के शहर जिलाध्यक्ष सुनील चैधरी ने बताया कि जब से राज्य में कांग्रेस की सरकार आई है तब से चारों ओर आराजकता का माहौल है। पुलिस प्रशासन की उदासीनता अपने चरम सीमा पर है। हर दिन बलात्कार, लूट, चोरी व हत्या जैसे घटनाएं हो रही है। वहीं शासकीय दफतरों में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा में पहुंच चूका है। नशाखोरी का आलम यह है कि बच्चे सड़क चैक चैराहों में खुले आम नशा कर अप्राकृतिक कृत्यों को अंजाम दे रहे हैें। इसके विपरीत राज्य के मुखिया असम चुनाव में अपने प्रांत को छोड़ प्रचार में जुटे हुए हैं। मुखिया का यहां न होकर अन्य राज्य में होने से श्अंधेर नगरी चोपट राजाश् जैसी कहावत आज चरितार्थ हो चली है। वहीं प्रदेश की गर्त में चली गई प्रशासनिक सहित सामाजिक व्यवस्था का पूरा सभ्य समाज विरोध करता है।
इसी के मददेनजर पिछड़ा वर्ग मोर्चा के कार्यकर्ता सभी मण्डलों में भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर संयुक्त रूप से भूपेश का पुतला फूंक अपना विरोध जताया है। पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष विशेष विद्रोही ने बताया कि पुतला दहन प्रदर्शन में पिछड़ा समाज से जुडे़ लोगों की बड़ी संख्या में उपस्थिति ने यह प्रमाणित कर दिया कि उनमें मुख्यमंत्री के प्रति कितना रोष है। एक ओर जहां मुख्यमंत्री अपने आप को पिछड़ा समुदाय का होना बोलकर उनका हितैषी बनने का प्रयास करते है जबकि इसके विपरित आज पूरे प्रांत में विभिन्न असामाजिक घटनाओं में सबसे ज्यादा आहत कोई है तो वह पिछड़ा विशाल समुदाय है। जिसकी वजह से आज भाजपा व भाजपा पिछड़ा मोर्चा कार्यकर्ता के साथ आमजन भी आगे आते हुए न सिर्फ प्रदर्शन में शामिल हुए बल्कि मुख्यमंत्री भूपेश के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।
error: Content is protected !!