गांव,गरीब की खुशी में प्रदेश की खुशी, सभापति ने कहा “जिला पंचायत क्षेत्र के विकास में जनप्रतिनिधियों के साथ ग्रामीणों की सहभागिता भी हो सुनिश्चित” 

०० जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने लगरा में पचरी और मुक्तिधाम निर्माण कार्य का किया  भूमिपूजन

बिलासपुर| प्रदेश सरकार की पहली प्राथमिकता में युवा,गांव गरीब और किसान है। जब तक गांव गरीब युवा और किसान खुशहाल नहीं होंगे तब तक प्रदेश का विकास असम्भव है। यह बातें जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने लगरा में पचरी और मुक्तिधाम निर्माण कार्य के भूमिपूजन के बाद कही।  जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने लगरा में 8 लाख की लागत से बनाए जाने वाले पचरी और मुक्तिधाम के लिए भूमिपूजन किया। इस दौरान स्थानीय जनता के साथ गणमान्य लोग और अधिकारी विशेष रूप से मौजूद थे।

अंकित गौरहा ने कहा कि जब तक गांव गरीब युवा और किसान खुश नहीं रहेंगे तब तक प्रदेश के विकास की कल्पना अधूरी है। प्रदेश सरकार गांव,गरीब,युवा और किसानों के विकास को लेकर लगातार काम कर रही है। प्रदेश मुखिया ने गांव को स्वावलम्बी बनाने गौधन न्याय योजना को प्रारम्भ किया। पिछले दो सालों में ग्रामीण जीवन की आय में बढ़ोत्तरी हुई है। यही कारण है कि किसान और गरीब खुश रहने के साथ आत्मनिर्भर हुए हैं। गौरहा ने बताया कि लगरा में पांच लाख दस हजार की लागत से मुक्तिधाम शेड का निर्माण किया जाएगा। जबकि दो लाख सत्तर हजार की लागत से पचरी घाट बनाया जाएगा। गौरहा ने कहा कि ग्रामीणों की मांग पर ही जिला पंचायत व शासन के निर्देश पर विकास कार्यो को नई दिशा देगा। इस विकास कार्य में जनप्रतिनिधियों के  साथ ग्रामीणों की सहभागिता भी सुनिश्चित हो जिससे किए गए विकास कार्य का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे। भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान  रामकुमार निर्मलकर जी,सरपंच प्रतिनिधि शत्रुघ्न साहू जी,प्रकाश केवट जी,राज कुमार श्रीवास जी,मुखीराम बिरजे जी,भूपेंद्र जयसवाल जी,ओम प्रकाश केवट जी,रमेश पटेल जी,किरण केवट जी,सुनील केवट जी, विनोद विश्वकर्मा जी, सेवत पटेल जी,जुगल कुमार केवट जी,लक्ष्मण साहू जी,खेम नारायण श्रीवास जी,जग्गू केवट जी,राम गोपाल साहू जी और ग्रामवासी मौजूद थे।

error: Content is protected !!