मां-बेटे ने मिलकर पड़ोसी को मारा चाकू, मजदूरी के पैसों को लेकर हुआ था विवाद

०० रायपुर के चंगोराभाठा इलाके के बीएसयूपी कॉलोनी की घटना, पुलिस ने मां और उसके दो बेटों को पकड़ा जिसमें एक नाबालिग

रायपुर| चंगोरा भाटा इलाके में एक शख्स को चाकू मारा गया। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या की इस वारदात को मां और उसके दो बेटों ने मिलकर अंजाम दिया। दोनों बेटों में एक नाबालिग है। डीडी नगर थाने की पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया है। महिला और उसके बेटों ने पुलिस को बताया कि मजदूरी के पैसों को लेकर पड़ोसी के साथ विवाद हो गया था। झगड़े के बीच महिला के बेटे ने उस आदमी को चाकू मार दिया।

गोंदवारा में एक किराए के मकान में रहने वाली संगीता साहू ने इस हत्याकांड में अपना पति खो दिया। पिछले कुछ दिनों से चंगोराभाटा की बीएसयूपी कॉलोनी में रहने वाले संगीता के भाई गोरे यादव के घर उसका बेटा गया हुआ था। सोमवार की रात संगीता भी अपने पति के साथ यहां आ गई। पड़ोस में ही रहने वाली महिला चंद्रिका डेकाटे के साथ संगीता का झगड़ा हो गया। दरअसल चंद्रिका के बेटे के साथ संगीता का बेटा मजदूरी करने गया था वह उसे मजदूरी के आधे पैसे नहीं दे रहा था। चंद्रिका का बड़ा बेटा करण डेकाटे झगड़े के बीच पहुंच गया। अपने नाबालिग भाई और मां के साथ मिलकर तीनों ने संगीता को पीट दिया। बीच-बचाव करने संगीता का पति भी आया नाबालिग घर के अन्दर से चाकू लेकर आया और ओम प्रकाश की छाती और पेट के पास हमला कर दिया। मां चंद्रिका और उसके दोनों बेटे भाग गए। ओमप्रकाश को प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र ले जाया गया वहां उसने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंची। मुहल्ले के ही एक घर में छिपी चंद्रिका और इसके दोनों बेटों को पकड़ लिया गया। पुलिस को इन्होंने बताया कि पैसों के झगड़े की वजह से उन्होंने हमला किया। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल चाकू और खून से सने कपड़े बरामद किए। अब इन्हें कोर्ट में पेश कर सलाखों के पीछे भेजने की तैयारी है नाबालिग लड़के को बाल सुधार गृह भेजा जाएगा।

error: Content is protected !!