सेलर टीम का ट्राफी पर कब्जा-नगोई बने उपविजेता, सभापति अंकित गौरहा ने कहा “दोनों ने किया विपरीत हालात में अच्छा प्रदर्शन”

०० जिला स्तरीय स्वर्गीय नारायण प्रसाद गौरहा स्मृति क्रिकेट प्रतियोगिता का रविवार को हुआ समापन

बिलासपुर| जिला स्तरीय स्वर्गीय नारायण प्रसाद गौरहा स्मृति क्रिकेट प्रतियोगिता का रविवार को समापन हुआ। सेलर की टीम ने ट्राफी पर कब्जा किया। सादगी भरे कार्यक्रम के बीच आयोजक मण्डल और खिलाड़ियों ने प्रांजल मिश्रा और किशन सिंह के आकस्मिक मौत पर दो मिनट का मौन रखकर दुख व्यक्त करते हुये श्रंद्धाजलि अर्पित की।  रविवार को बिना शोर शराबे स्वर्गीय नारायण प्रसाद गौरहा स्मृति क्रिकेट प्रतियोगिता का समापन हुआ। ट्राफी पर सेलर की टीम ने कब्जा किया। अतिथि जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने विजेता टीम को ट्राफी के साथ 15001 रूपए भेंट कर सम्मानित किया। जबकि उप विजेता टीम नगोई को रनिंग ट्राफी के साथ 7501 रूपए दिए गए।

कार्यक्रम को जिला पंचायत सभापति अंकित गौरहा ने संबोधित किया। उन्होने विजेता और उप विजेता टीम और खिलाड़ियों को जीत की बधाई दी। अंकित गौरहा ने कहा कि हमें हर काम को पूरे मनोयोग के साथ करना होगा। हार जीत जीवन का हिस्सा है। हारने वाली टीम को मनन करने की जरूरत है कि आखिर किन कारणों से हम फायनल नहीं पहुंचे। सतत अभ्यास के साथ ना केवल कमियों को दूर करें…खेल में सुधार करते हुए अगली बार ट्राफी पर कब्जे करने का लक्ष्य निर्धारित करें। साथ ही अपने क्षेत्र और टीम का नाम भी रोशन करें।  अंकित ने कहा आज विजेता और उपविजेता टीम को ट्राफी सौंपते समय बहुत खुशी हो रही है। लेकिन इस बात का भी दुख है कि दोनों ही टीम के खिलाड़ियों ने अपने साथी को हमेशा के लिए खोया है। बावजूद इसके दोनों टीमों ने खेल भावना के साथ खेल को अंजाम दिया। निश्चित रूप से आज हमारे बीच ऊर्जावान युवा चेहरा किशन सिंह बीच नहीं है। इसी तरह नगोई का युवा चेहरा प्रांजल का भी एक हादसे में निधन हो गया है। लेकिन दोनों की यादें हमारे साथ है। हम उन्हें कभी नहीं भूल सकते हैं।  कार्यक्रम के अन्त में आयोजक मण्डल, सभी खिलाड़़ियों समेत स्थानीय लोगों ने किशन और प्रांजल की आत्मा को श्रद्धासुमन भेंट किया साथ ही पीड़ित परिवार के लिए ईश्वर से हर कदम संबल प्रदान करने की कामना की है।

 

error: Content is protected !!