बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाएं, शिक्षा से ही आएगी जागरूकता : सुश्री उइके

०० राज्यपाल आदिवासी सेवा मंडल भोपाल द्वारा आयोजित युवक-युवती परिचय सम्मेलन में वर्चुअल रूप से हुई शामिल 

रायपुर| आदिवासी समाज अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाएंशिक्षा ही विकास की महत्वपूर्ण कुंजी है। शिक्षा से ही जागरूकता आएगी और समाज सशक्त होगा। उक्त बातें राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने आज आदिवासी सेवा मण्डल भोपाल द्वारा आयोजित युवक-युवती परिचय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। राज्यपाल इस कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से शामिल हुई।
राज्यपाल ने कहा कि आदिवासी सेवा मण्डल विगत 50 वर्षों से आदिवासी समाजों के समाज सेवियोंसामाजिक कार्यकर्ताओंउच्च शिक्षित व्यक्तियोंविद्यार्थियोंनिजी क्षेत्रों में कार्यशील व्यक्तियों आदि के मध्य क्रियाशील सामंजस्य स्थापित कर आदिवासी समाज की बेहतरी के लिए कार्य कर रहा हैयह सराहनीय है। सुश्री उइके ने कहा कि आदिवासी समाज हमेशा से प्रकृति से जुड़ा हुआ होता है। उनकी हर परंपराएंधार्मिक आयोजनलोक नृत्यसंस्कृति में प्रकृति का प्रभाव हैया यूं कहें कि उनमें प्रकृति ही समाहित है। इनके गोत्र चिन्हवनस्पति और वन्य जीवों के नाम परदेवी-देवता वन्य संसाधन जैसे पहाड़ या वन्य जीव या और कुछइनके लोकनृत्य सभी में प्राकृतिक सौंदर्य की छाप होती है। राज्यपाल ने कहा कि आदिवासी समाज के सदस्य विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग भूमिकाओं में कार्य कर रहे हैं। आपके पास जब आदिवासी वर्ग का कोई व्यक्ति किसी काम के लिए आए तो उसकी समस्या को गंभीरतापूर्वक सुने और उसे दो कदम आगे बढ़कर सहयोग करें। इस तरह कर आप जहां अपने दायित्वों का सही निर्वहन करेंगेवहीं समाज के प्रति भी अपनी जिम्मेदारियों को पूरी करने में आप कामयाब होंगे। आप लोगों का यह प्रयास आदिवासी समाज को आगे ले जाने में बहुत मददगार साबित होगा। इस कार्यक्रम में मध्यप्रदेश शासन के मंत्री श्री बिसाहू लाल सिंहअध्यक्ष श्री मनोहर सिंह ठाकुरलखनादौन विधायक श्री योगेन्द्र सिंहश्रीमती चंदा सर्वटेश्री अजय शाहबरघाट विधायक श्री अर्जुन ककोडियामनावर विधायक श्री हीरा लाल अलावाश्री प्रकाश ठाकुर और आदिवासी समाज के लोग उपस्थित थे।

error: Content is protected !!