महिलाएं अपनी ताकत को पहचानें और उसका उपयोग समाज एवं देशहित में करें: राज्यपाल सुश्री उइके

०० राज्यपाल श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में हुई शामिल

रायपुर| राज्यपाल सुश्री उइके ने आज यहां श्री रावतपुरा सरकार युनिर्वसिटी द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि की आसंदी से शामिल हुई। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया तथा शुभकामनाएं दी।
राज्यपाल सुश्री उइके ने इस अवसर पर कहा कि आज मुझे बड़ी खुशी हो रही है कि ऐसी महिलाओं के बीच में उपस्थित हूं तथा उन्हें सम्मानित करने का मुझे अवसर मिला, जिन्होंने एक सामान्य पृष्ठभूमि तथा कठिन परिस्थितियांे के बावजूद अपने कर्तव्य पथ पर टिकी रहीं और अपने लक्ष्य को प्राप्त किया। आज महिलाएं जिस स्थिति में हैं पहले वैसे नहीं थीं। उन्होंने कहा कि महिलाएं जिस प्रकार कार्य कर रही हैं वह आसान नहीं है। सुश्री उइके ने कहा कि इस मुकाम पर पहुंचने के लिए कई चुनौतियों का सामना किया, हिम्मत और दृढ़ संकल्प के साथ कार्य किया। दुनिया के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत किया। महिलाएं अपनी ताकत को पहचानंे और उसका उपयोग समाज और देशहित मंे करें। उन्होंने कहा कि मैं महिलाओं के संरक्षण एवं उनके आत्मसम्मान की रक्षा तथा उनकी समस्याओं का समाधान करने के लिए हर संभव प्रयास करूंगी।
सुश्री उइके ने कहा कि हम जीवन में कुछ करना चाहते हैं तो दृढ़ संकल्प और मानवीय संवेदना के साथ कार्य करें तब जरूर सफल होंगे। राज्यपाल ने अपने जीवन संघर्ष की चर्चा करते हुए कहा कि मेरे जीवन में अनेक चुनौतिर्यां आइं पर मैं कभी हिम्मत नहीं हारी। हर किसी का हरसंभव मदद करने का प्रयास किया। यह याद रखें कि किसी की मदद करने से जो सुकून मिलता है वह किसी अन्य कार्य से नहीं मिलता है। राज्यपाल ने बताया कि छात्र संघ की राजनीति से सार्वजनिक जीवन की शुरूआत की। पहली बार वे चुनाव हारी, उस समय कुछ लोगों ने मुझे पथ से डिगाने की कोशिश की, परंतु मैं हिम्मत नहीं हारी और दोबारा चुनाव लड़ी और छात्रसंघ के पदाधिकारी पद पर निर्वाचित हुई। मुझे जीवन में कई नकारात्मक लोगों का सामना करना पड़ा परंतु सकरात्मकता से उनका सामना किया और फिर विधायक, मंत्री सहित आज छत्तीसगढ़ के राज्यपाल पद तक पहुंची। उन्होंने महिलाओं को संदेश दिया कि जीवन में सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ कार्य करें। जीवन में आगे बढ़ते समय कभी असफलता हाथ लगती है तो उस समय निरूत्तसाहित करने वाले तत्वों का हंसकर जवाब दें। जीवन में अच्छे लोग भी होते हैं, जब भी जरूरत पड़े तो उनका मार्गदर्शन लें, आपको सफलता अवश्य मिलेगी। इस अवसर पर पद्मभूषण श्रीमती तीजन बाई, पद्मश्री श्रीमती फुलबासन यादव, विधायक श्रीमती अनिता योगेन्द्र शर्मा, प्रति-कुलाधिपति श्री राजीव माथुर, कुलपति श्री आर.के. पाठक सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

error: Content is protected !!