विधानसभा : विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने सदन में उठाया धान खरीदी व मिलिंग में अफरातफरी का मामला

00 32 लाख 24 हजार 590 मीट्रिक टन धान का आज तक मिलिग नही
00 2 लाख 64 हजार मीट्रिक टन से ज्यादा चावल अब तक जमा नही
रायपुर। भाजपा विधायक ने सहकारी समिति के माध्यम से धान खरीदी का मामला सदन में उठाया बृजमोहन अग्रवाल ने सहकारिता मंत्री से एक प्रश्न के माध्यम से जानना चाहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में कितनी सहकारी समितियों के माध्यम से कितना धान खरीदी की गई। इन वर्षों में कस्टम मिलिंग के लिए कितने धान का उठा हुआ कितना उठाओ शेष है वह कितना चावल जमा करना था और कितना चावल जमा हुआ।
आदिम जाति विकास मंत्री ने सदन में जानकारी दी कि 2019-20 में 83 लाख 94 हजार 590 मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है जिसमें से सिर्फ 51 लाख 70 हजार मीट्रिक टन धान का उठाव किया गया है भारतीय खाद्य निगम वह नागरिक आपूर्ति निगम में कुल 56 लाख 65 हजार मीट्रिक टन चावल जमा किया जाना था किंतु 16 फरवरी 2021 तक कस्टम मिलिंग का मात्र 54 लाख 1 हजार मीट्रिक टन चावल जमा किया गया है। अग्रवाल ने कहा है कि वर्ष 2019-20 के उपार्जन धान में 32 लाख 24 हजार 590 मैट्रिक टन धान का मिलिंग ना होना जहांँ दुर्भाग्य जनक है वही एक बड़े भ्रष्टाचार की ओर अंकित कर रहा है उसी प्रकार नए मिंलिग के सीजन आ जाने तक लाख 64 हजार मीट्रिक टन चावल का अब तक जमा ना हो पाना दुर्भाग्य जनक की स्थिति है आखिर इसके लिए दोषी कौन है।

error: Content is protected !!