ढाई लाख के गबन का आरोपी अंडमान पुलिस को चकमा देकर फरार, टिकरापारा थाने में जुर्म दर्ज

०० आरोपी को पकड़ने अंडमान निकोबार से आई थी पुलिस, गेस्टहाउस में पुलिसकर्मियों को बंद कर बाहर से लगा दी कुंडी

रायपुर| ढाई लाख रुपए के गबन के आरोप में पकड़ने आई अंडमान पुलिस की हिरासत से एक आरोपी फरार हो गया। इस बाद अंडमान पुलिस ने रायपुर में भी एक एफआईआर दर्ज कराई है। बलौदा बाजार के रवान गांव के पटेलपारा निवासी इस व्यक्ति पर अंडमान के एक होटल में 2.5 लाख रुपए के गबन का आरोप है अब रायपुर पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

टिकरापारा थाना प्रभारी संजीव मिश्रा ने बताया कि राम कुमार साहू अंडमान के एक होटल में मैनेजर था। वहां उसे रखने के लिए 2.5 लाख रुपए मिले थे, जिसे लेकर वह घर भाग आया। होटल मालिक ने दक्षिण अंडमान के अबरडीन थाने में मामला दर्ज कराया। जांच में उसके छत्तीसगढ़ भाग आने का पता चला। उसके बाद दक्षिण अंडमान के पहारगांव के उपनिरीक्षक मोहम्मद रफीक और वरिष्ठ आरक्षक अरविंद कुमार केरकेट्टा 13 फरवरी को बलौदा बाजार पहुंचे थे। स्थानीय पुलिस की मदद से उन लोगों ने 15 फरवरी की सुबह 7 बजे उसको गिरफ्तार किया। स्थानीय मजिस्ट्रेट की अदालत से 10 दिनों की ट्रांजिट रिमांड लेकर अंडमान पुलिस के दोनों कर्मचारी उसे रायपुर लाए। यहां एमएमआई नारायणा अस्पताल में आरोपी का कोविड टेस्ट कराया गया। आरटीपीसीआर टेस्ट का रेजल्ट अगले दिन मिलने वाला था इसलिए अस्पताल के पास ही लालपुर के अन्नपूर्णा गेस्टहाउस में कमरा लेकर रुक गये। मंगलवार की दोपहर को कोविड टेस्ट का परिणाम आ गया। खाना खाने के बाद दोनों पुलिस कर्मी रेलवे स्टेशन जाने के लिए बैग पैक कर रहे थे। उसी बीच आरोपी चुपचाप बाहर निकला और दरवाजे की कुंडी बंद कर दिया।कमरे में बंद पुलिस कर्मियों ने शोर मचाया लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। उसके बाद गेस्ट हाउस के रिसेप्सन पर फोन कर दरवाजा खुलवाया। तब तक बहुत देर हो चुकी थी। उन लोगों ने दौड़-भाग कर आसपास तलाशने की कोशिश की, लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुका था। वरिष्ठ अधिकारियों से बात करने के बाद अंडमान पुलिस के उप निरीक्षक ने टिकरापारा थाने में एफआईआर करा दिया है।

error: Content is protected !!