असम कांग्रेस असम बचाव यात्रा के बीच तय कर रहा है चुनाव के लिए घोषणापत्र

00 बढ़ती महंगाई व निष्क्रिय भाजपा सरकार के खिलाफ असम की जनता खुलकर बोल रही है
00 कांग्रेस की विचारधारा व मतदाता के मनः स्थिति का संगम ही कांग्रेस को जीत दिलाएगी
रायपुर। असम चुनाव को लेकर कांग्रेस ने अपना अभियान और तेज किया। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विकास उपाध्याय ने असम बचाव यात्रा को कांग्रेस कार्यालय से असम के लोगों के एक-एक घर तक ले जाने व कांग्रेस की विचारधारा के साथ लोगों की छोटी से छोटी समस्या को भी अपने घोषणा पत्र में सम्मिलित करने हर वर्ग के लोगों से सम्पर्क कर उनके अनुभव साझा करते हुए पूरे क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी को मतदाताओं के बीच जीवन्त करने कोई कसर नहीं छोड़ रहे। इस यात्रा में पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन सिंह घाटोवार व सीएलपी नेता देवव्रत सैकिया पैदल चलकर असम प्रभारी विकास उपाध्याय के साथ असम के अंतिम व्यक्ति तक अपनी बात पहुँचाने युद्ध स्तर पर लगे हुए हैं।
असम में कांग्रेस नेता राहूल गाँधी के सार्वजनिक सभा के बाद कांग्रेस ने प्रचार-प्रसार और तेज कर दिया है। जिस असम बचाव यात्रा की शुरूआत की गई थी, उसे चैदह दिनों के अन्दर पूरे अपर असम क्षेत्र के एक-एक मतदाता तक पहुँचाने का लक्ष्य रखा है। इस यात्रा से पूरे कांग्रेस खेमे में जबरदस्त उत्साह तो देखी जा रही है, साथ ही असम के मतदाता भी कांग्रेस नेताओं के इस अभियान को हांथों-हांथ ले रहे हैं। असम प्रभारी विकास उपाध्याय ने वैसे तो हर परिस्थिति में मतदाताओं के अनुरूप कार्य करने की अद्भूत कला है, पर जिस तरह से असम कांग्रेस के लोगों में इस खूबी को समावेश कर दिया है, निश्चित तौर पर इसके चलते भाजपा के लोगों को बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। असम बचाव यात्रा के माध्यम से असम कांग्रेस के तमाम पदाधिकारी विकास उपाध्याय के साथ कदम से कदम मिलाकर उन सभी जगहों पर उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं, जहाँ सामान्यतः राजनैतिक पार्टी के लोग जाते नहीं हैं। उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहे पूर्व केन्द्रिय मंत्री पवन सिंह घाटोवार व सीएलपी नेता देवव्रत सैकिया भी इस बात को महसूस कर रहे हैं कि कांग्रेस के विचारधारा व मतदाताओं की अपेक्षाएँ का यदि समावेश हो जाए, तो जीत पक्की है। असम बचाव यात्रा के दौरान आज कांग्रेस के दिग्गज नेता उन छोटे व्यापारियों से लेकर छोटे-छोटे गलियों से गुजरते उनके अनुभव के साथ अपनी बात साझा करते बढ़ रही महंगाई व उनके व्यापार में हो रहे नुकसान को लेकर बारीकी से समझते नजर आए। इस दौरान वे सब्जी मार्केट से लेकर छोटे-छोटे किराना के व्यापारियों से भी घंटों चर्चा की। कई व्यापारियों ने बतायायहाँ आलू की खेती बड़े तादात में होती है परन्तु कोल्ड स्टोरेज न होने की वजह से या तो वह खराब हो जाता है या फिर औने-पौने दाम में बेचना पड़ता है। जिसे कांग्रेस ने अपने घोषणा-पत्र में सम्मिलित करते हुए इन आलू का पैदावार करने वालों के लिए इसकी व्यवस्था अपने घोषणा-पत्र में सम्मिलित करने का निर्णय लिया है। इसी तरह वे अपने घरों में रहने वाले एक-एक व्यक्तियों के मनः स्थिति को समझने भी सम्पर्क कर उनकी यथा परिस्थितियों को लेकर चर्चा की। इस दौरान असम के जन-मानस के बीच बहुत ही सकारात्मक संदेश के साथ कांग्रेस के पक्ष में माहौल निर्मित होते देखा गया। कांग्रेस के ये नेता जगह-जगह जनता की भीड़ के साथ नुक्कड़ सभा कर कांग्रेस किन मुद्दों को लेकर जनता के बीच आ रही हैको विस्तार से समझाते हुए कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने की अपील की।

error: Content is protected !!