पेट्रोल डीजल रसोई गैस के दामों में अकारण वृद्धि मोदी सरकार के मुनाफाखोरी जीता जागता उदाहरण : कांग्रेस

०० मोदी जी ने कहा था मेरे खून में व्यापार है उसे पेट्रोल डीजल में मुनाफ़ाखोरी कर साबित कर दिया

०० मोदी सरकार में पेट्रोल डीजल में एक्ससाइज टैक्स दो  तीन नही आठ गुना बढ़ा : कांग्रेस

रायपुर पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दामों में हुई बेतहाशा मूल्य वृद्धि के लिए कांग्रेस ने मोदी भाजपा की सरकार को जिम्मेदार ठहराया प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों में लगने वाली एक्साइज ड्यूटी में मोदी सरकार ने एक दो नही बल्कि आठ गुना वृद्धि कर दी जिसका सीधा असर रोजमर्रा के उपयोग में आने वाले दूध, सब्जी, दवाई, अन्य प्रकार के वस्तुओं पर दिख रहा है। मोदी सरकार के मुनाफ़ाखोरी के नियत के चलते ही जनता को सस्ती कीमत में मिलने वाले क्रूड ऑयल से बनी पेट्रोल, डीजल का भी महंगे दर से खरीदने पड़ रहा है। जबकि देश मे पेट्रोल डीजल रसोई गैस के दामों में कमी के बेहतर अवसर है। यूपीए सरकार के दौरान देश में पेट्रोल डीजल रसोई गैस के दामों में होने वाली मूल्यवृद्धि के पीछे अंर्तराष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल के दामों में वृद्धि होना होता रहा है। और आज उलटा देश मे पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य वृद्धि के पीछे अन्तराष्ट्रीय कारण नही बल्कि मोदी सरकार के मुनाफाखोरी ही मुख्य वजह है। मोदी सरकार बनने के बाद जब क्रूड ऑयल की कीमत 2014 के पहले के मुकाबले निचले स्तर पर था उस दौरान भी देश की जनता को महंगे दरों पर पेट्रोल डीजल मात्र इसलिए खरीदने पढ़ रहे थे क्योंकि मोदी भाजपा की सरकार पेट्रोलियम पदार्थों पर मुनाफाखोरी करने में जुटी रही है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा मोदी जी ने शपथ ग्रहण के बाद ही कहे थे कि उनके खून में व्यापार है और वो पेट्रोल डीजल, रसोई गैस में हो रही मुनाफाखोरी से आज दिख भी रहा है।बीते सात साल में मोदी सरकार के गलत नीतियों, मनमानी तरीके से लागू की गई नोटबन्दी जीएसटी और कोरोना रोकने में हुई लापरवाही बिना सोचे समझे बिना तैयारी की गई लॉक डाउन के चलते जहाँ देश मे रोजी रोजगार के गम्भीर संकट उतपन्न हो गए है।नए रोजगार सृजन होना दूर की बात है जिनके हाथ मे रोजगार था वो भी बेरोजगार हो गए है,बेरोजगारी के मामले में देश 45 साल पीछे की स्थिति में है।अर्थव्यवस्था ऑक्सीजन में है उद्योग धंधे बन्द हो रहे है महंगाई दिन दुगनी रात चौगुनी बढ़ रही है महंगाई की मार से जनता कहराह रही है।गरीब और गरीब हो रहा है मध्यमवर्गी हताश और परेशान है।मोदी जी के  गिने चुने चंदपूंजी मित्रो की ही आमदनी और सम्पत्ति दोनों बढ़ रही है।ऐसे समय मे जहाँ देेश की जनता को राहत दी जानी चाहिए। वहां मोदी सरकार मुनाफाखोरी करने में लगी हुई है प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान डीजल पर प्रति लीटर 3 रु. 50 पैसे की एक्साइज ड्यूटी लगती थी जिसे मोदी सरकार ने 8 गुना बढ़ाकर 32 रु प्रति लीटर कर दिया है वही पेट्रोल पर जहां 9 रु प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी था उसे बढ़ाकर 33रु प्रति लीटर कर दिया गया है। मोदी सरकार ने अभी तक डीजल पर 8 गुना एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई है और जनता की जेब से 24लाख करोड रुपए निकाल लिया। मोदी सरकार की मुनाफाखोरी की भूख एक्साईज ड्यूटी से नही मिटी तो उसने इस वर्ष के केन्द्रीय बजट में पेट्रोल और डीजल पर 2.5 रू. और 4 रू. का अतिरिक्त सेस लगा दिया।

error: Content is protected !!