मैनपाट महोत्सव 2021 : संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया शुभारम्भ

०० भक्तिरस के साथ भोजपुरी धमाल से सराबोर रहा सांस्कृतिक कार्यक्रम

रायपुर| प्रदेश के  संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने शनिवार को मैनपाट महोत्सव के दूसरे दिन की सांध्यकाललीन सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभरम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मैनपाट महोत्सव का आयोजन का उद्देश्य पर्यटन विकास के साथ संस्कृतियों को  सहेजने का है। कोरोना काल मे लोग घर के अंदर लंबे समय तक रहकर कुंठित हो गए थे ऐसे में मैनपाट महोत्सव का आयोजन लोगो को सुकून दे रहा है। यह पल मुश्किल से आठ है इसका भरपूर आनंद लें। उन्होंने कहा कि बैठक व्यवस्था में सभी को आगे की पंक्ति नही मिलती है। जिसको जहां स्थान मिलता है वहां बैठ जाएं। लोगों को जो कहना है कहने दें प्रशासन भी दर्शकों के लिए  बैठक व्यवस्था पर्याप्त करे।
सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम पंखिड़ा फेम राजेश मिश्रा के भक्तिगीत तथा भोजपुरी सुपरस्टार अक्षरा सिंह और राकेश मिश्रा के भोजपुरी गानों के धमाल से सराबोर रहा। इनके द्वारा प्रस्तुत गीत संगीत से दर्शक खूब झूमे बार-बार हाथ ऊपर कर साथ देते रहे। पंखिड़ा ओ पंखिड़ा गाना गाकर देश मे अपनी पहचान बनाने वाले राजेश मिश्रा न भक्ति गीतों में भी बड़ा रस होता है  कहते हुए राम वनगमन पथ निहारने को भक्तों के बीच भगवान आ गए गाना शुरू किया तो दर्शक भक्ति भाव से तल्लीन हो गए। इसके बाद मैया के हाथ सौंप दो ये जीवयन की नैया, डम-डम-डम -डमरु बाजे गीतों पर दर्शक मंत्रमुग्ध होकर झूमने लगे। इसके पश्चात भोजपुरी सुपर स्टार अक्षरा सिंह ने भोजपुरी और हिंदी गानों से दर्शकों में जबरदस्त उत्साह भरी। मेरे रसके कमर, तुम्हे दिल्लगी भूल जानी पड़ेगी, हमरा के तड़पा के ए बताईबा का पाईबा जैसे गानों में खूब तालियां बटोरी वही भोजपुरी गायक श्री राकेश मिश्रा के ’ए राजा तनि जाइ न बहरिया’ की प्रस्तुति ने रंग जमाया। इसके साथ ही शिव झांकी द्वारा मनमोहक प्रस्तुति दी गई।इस अवसर पर आई जी श्री आरपी साय, कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा, पुलिस अधीक्षक श्री टी आर कोशिमा सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि, अधिकारी, कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में दर्शक मौजूद थे।

error: Content is protected !!