वेब पोर्टल के दो पत्रकारों ने वन विभाग के अधिकारी को ब्लैकमेल कर की लाखो की वसूली, आरोपी गिरफ्तार

०० मुंगेली वन मंडल में गड़बड़ियों को लेकर चैनल का पत्रकार बनकर युवक ने मांगे थे एक करोड़ रुपए

रायपुर| मुंगेली में वेब पोर्टल के दो पत्रकारों को फॉरेस्ट अफसर को ब्लैकमेल करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों में एक युवती भी शामिल है। पकड़े गए आरोपियों ने सीबीआई का डर दिखाकर अफसर से एक करोड़ रुपए मांगे थे। अफसर ने दोनों को 90.5 लाख रुपए किस्तों में दे भी दिए थे। फिर बार-बार रुपए मांगने से तंग आकर एसपी मुंगेली से इसकी शिकायत कर दी।

जानकारी के मुताबिक, मुंगेली रेंज में सीआर नेताम रेंज अफसर हैं। आरोप है कि पत्रकारों परमवीर सिंह और वर्षा तिवारी ने अफसर को भ्रष्टाचार के मामले में फंसने और सीबीआई जांच का डर दिखाया। कहा कि उन्हें गिरफ्तार कर अंडमान-निकोबार की जेल में भेज दिया जाएगा। गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपियों ने एक करोड़ रुपए की मांग की थी। बताया जा रहा है कि रेंज अफसर ने जमीन बेचकर और उधार लेकर आरोपियों को किस्तों में रुपए दिए।बताया जा रहा है कि मुंगेली वन मंडल में कुछ गड़बड़ियां हुईं थी। इसकी जानकारी रेंज अफसर नेताम के करीबी सरताज ईरानी को भी थी। आरोप है कि उसने ही दोनों पत्रकारों के साथ ब्लैकमेलिंग की साजिश रची। यह भी पता चला है कि सरताज ने दोनों से कहा था कि जितनी भी रकम वसूली जाएगी, उसका 60 प्रतिशत राशि वो खुद रखेगा। हालांकि अभी यह पता नहीं चल सका है कि वह भ्रष्टाचार क्या है। पुलिस ने दोनों से वसूली के 7.5 लाख रुपए भी बरामद किए हैं।

error: Content is protected !!