लालकिले में कोई आदमी कैसे घुसा प्रधानमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए : भूपेश बघेल

०० प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में लालकिले की घटना पर जताया था दुख

०० मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहायह घटना आंदोलन को बदनाम करने की साजिश

रायपुर| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रसारित रेडियो वार्ता “मन की बात’ में 26 जनवरी को लालकिले पर हुई घटना का जिक्र करते हुए दुख जताया। अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना के लिए प्रधानमंत्री पर सवाल उठाए हैं। मुख्यमंत्री ने रायपुर में कहा, दिल्ली पुलिस तो केंद्र सरकार के अधीन है। लालकिले में कोई आदमी कैसे घुसा? प्रधानमंत्री को पहले इसका जवाब देना चाहिए।

बस्तर प्रवास पर जाने से पहले संवाददाताओं से चर्चा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, लालकिले की घटना ने पूरे देश को शर्मसार किया है। लेकिन सवाल यह है जहां 24 घंटे सेना और पुलिस के जवान रहते हैं, वहां वह आदमी घुसकर डेढ़-दो घंटे रहा कैसे। अभी तक उसका कोई पता नहीं है। वह कहां छिपा है। मुख्यमंत्री ने कहा, यह सारा षड़यंत्र किसान को बदनाम करने के लिए था।मुख्यमंत्री ने कहा, यह दीप सिद्धू कौन है। प्रधानमंत्री के साथ उसकी फोटो दिख रही है। गृहमंत्री के साथ उसकी फोटो है। उनके ही प्रत्याशी का चुनाव एजेंट था। फिर वह पकड़ा क्याें नहीं जा रहा है। सवाल तो यही है कि इस प्रकार की घटना करके देश के झंडे के साथ भी षड़यंत्र करके आंदोलनकारियों को बदनाम करने की कोशिश हो रही है। यह दुर्भाग्यजनक बात है।मुख्यमंत्री ने कहा, जब भी सरकार किसानों को आमंत्रित करती है उनके प्रतिनिधि वहां जाकर बात करते हैं। किसानों की तरफ से कोई गतिरोध तो है ही नहीं। उनकी एक सूत्रीय मांग है कि तीनों काले कानून वापस लिए जाएं। आज ढाई महीने होने को आ गए भारत सरकार अभी भी हठधर्मिता पर अड़ी हुई है। किसान आंदोलन को कितने प्रकार से बदनाम करने की कोशिश की गई है। कभी उन्हें आतंकवादी कहा गया, कभी पाकिस्तानी समर्थक, कभी खालिस्तानी समर्थक कहा गया।

error: Content is protected !!