नक्सलियों ने सरपंच पति की अगवा कर की हत्या, पुलिस का मुखबिर होने का लगाया आरोप

०० मानपुर क्षेत्र में देर रात की घटनाघर में घुसकर उठा ले गए थे 20 से 25 हथियारबंद नक्सली

०० नक्सलियों ने पर्चा फेंककर स्थानीय भाजपा नेता को माफी मांगने का किया फरमान जारी

रायपुर| राजनांदगांव में बुधवार रात नक्सलियों ने सरपंच के पति की अगवा कर हत्या कर दी। उनको गला रेतकर मार दिया गया। इसके बाद नक्सली उनके शव को गांव के पास ही फेंककर भाग गए। वहीं घर के बाहर खड़े धान से लदे ट्रैक्टर में भी आग लगा दी। नक्सलियों ने पर्चा फेंककर स्थानीय भाजपा नेता को माफी मांगने का फरमान भी जारी किया है।

जानकारी के मुताबिक, मोहला मानपुर के परदोनी में सरपंच बुधवार रात करीब 8.30 बजे 20 से 25 वर्दीधारी नक्सली हथियार लेकर सरपंच के घर में घुस गए। उस दौरान सरपंच के पति मैनू राम सलाम खाना खाकर सोने जा रहे थे। नक्सलियों ने उनसे मारपीट की और फिर अगवा कर अपने साथ गांव से बाहर ले गए। इसके बाद उनकी गला रेतकर हत्या कर दी और शव को गांव के पास ही फेंक दिया। मैनू राम सलाम खुद भी ढब्बा ग्राम पंचायत के सरपंच रह चुके थे। नक्सलियों ने उनके ऊपर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया है। शव के पास ही पर्चे भी फेंके हैं। घटना के समय उनकी पत्नी मिन्नते करती रही, लेकिन नक्सली नहीं माने। वहीं जाते हुए नक्सलियों ने उनके घर के बाहर धान से लदे ट्रैक्टर में भी आग लगा दी। संभवत: सरपंच धान ले जाकर सुबह मंडी में बेचने वाले थे। नक्सलियों ने जो पर्चा फेंका है, उसमें वारदात की जिम्मेदारी आरकेबी डिवीजन ने ली है। उनके हवाले से बयान जारी कर भाजपा नेता राजू टांडिया को आरएसएस का नेता बताते हुए जनता से माफी मांगने का फरमान जारी किया है। माफी नहीं मांगने पर जान से मारने की चेतावनी दी है। इसके साथ ही 25 अन्य लोगों को भी कथित तौर पर पुलिस का मुखबिर बताते हुए चेतावनी दी गई है। पिछले 15 दिनों में नक्सली क्षेत्र में दो हत्याएं कर चुके हैं। पूर्व सरपंच से पहले नक्सलियों ने 29 दिसंबर को मानपुर थाने से महज 4 किमी दूर टांगापानी गांव में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसके ऊपर भी नक्सलियों ने पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया था।

error: Content is protected !!