पंचायत सचिव अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

शासकीयकरण है उनकी मांग तहसील कार्यालय के पास दे रहे है धरना

कृष्णा वस्त्रकार

कोरिया। कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ जनपद पंचायत अंतर्गत आने वाले सभी सचिव 1 सूत्रीय मांग को लेकर धरने पर बैठ गए हैं जिससे कामकाज प्रभावित हो रहा है साथ ही लोगों को परेशानी भी हो रही है मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश पंचायत सचिव संघ छत्तीसगढ़ के प्रांतीय आह्वान पर मनेंद्रगढ़ जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाले सभी ग्राम पंचायतों के सचिव 26 दिसंबर शनिवार से तहसील कार्यालय के समीप काम बंद कलम बंद के साथ ही अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं
संघ के अध्यक्ष गौरी शंकर शर्मा ने बताया कि छत्तीसगढ़ प्रदेश के पंचायत सचिव जो 29 विभाग के 200 प्रकार के कार्य को जमीनी स्तर पर ईमानदारी से पूरा करते हैं साथ ही राज्य शासन व केंद्र शासन की उन समस्त योजनाओं को लोकतंत्र के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का भी काम करते हैं लेकिन उसके बावजूद भी सचिवों का शासकीय कर्मचारी नही माना जा रहा उन्होंने आगे बताया कि पंचायत सचिवों के साथ नियुक्त सभी कर्मचारी जैसे शिक्षाकर्मी को शासन द्वारा शासकीय करण कर दिया गया लेकिन पंचायत सचिव आज भी अपने अधिकार से वंचित हैं संघ के सचिव दिलीप राय ने बताया कि पंचायत सचिवों को शासकीय करण करने हेतु प्रदेश के 65 विधायक गण द्वारा अनुशंसा पत्र शासन को प्रेषित किया जा चुका है उनकी मांग है कि पंचायत सचिवों के कार्य को देखते हुए और विधायकों के अनुशंसा पत्र को ध्यान में रखते हुए 2 वर्ष परीक्षा अवधि समाप्त कर चुके सचिवों का शासकीय करण किया जाना चाहिए ऐसा न करने की स्थिति में वह सभी 26 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हैं संघ ने अपनी मांग के लिये राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ को भी पत्र लिखकर पंचायत सचिव का शासकीयकरण किये जाने का अनुरोध किया है
इस अवसर पर शिवकुमार टेकाम, दिनेश तिवारी, सुभाष राय, गुलाब राम, कपिल देव चौधरी, सीता राम यादव, गोपाल सिंह, गोपाल बेलवंशी के साथ काफी संख्या में संघ के पदाधिकारी और सदस्य मौजूद रहे।

error: Content is protected !!