वन्य जीवो का खाल बेचने वाले तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

०० महासमुंद स्थित सेंचुरी में तीर-धनुष से करते थे वन्यजीवों का शिकार

०० लेपर्ड और हिरण की खाल के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार

रायपुर| महासमुंद पुलिस ने शनिवार को वन्य जीवों का शिकार कर उनकी खाल को बेचने वाले तस्करों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से लेपर्ड और हिरण की खाल बरामद हुई है। इसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 30 लाख रुपए से ज्यादा बताई जा रही। आरोपियों में रिजर्व फॉरेस्ट का चौकीदार भी शामिल है। यह लोग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में तीर-धनुष से शिकार करते थे।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस अफसरों को रिजर्व फॉरेस्ट एरिया में वन्य जीवों का शिकार कर उनकी खाल को बेचने की सूचना मिल रही थी। इस पर साइबर सेल और अलग-अलग थानों की पुलिस की संयुक्त टीम का गठन किया गया। इस बीच टीम को सूचना मिली कि कुछ लोगों ने जंगल क्षेत्र में लेपर्ड और हिरण का शिकार किया है। अब उसकी खाल बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे हैं। इसके बाद पुलिस टीम ने ग्राहक बनकर उनसे संपर्क किया। अभी पुलिस उन्हें पकड़ने की योजना बना रही थी कि तभी पता चला कि कुछ लोग ग्राम बरनाईदादर झगरनडीह चौक के पास तेंदुए और हिरण की खाल का सौदा करने वाले हैं। सूचना के बाद साइबर सेल और सांकरा थाना पुलिस ने घेराबंदी कर बलौदाबाजार निवासी शेख शहाबुद्दीन, बलिराम बरिहा और जोहन बरिहा को धर दबोचा। तलाशी के दौरान आरोपियों के पास से दो बोरे में एक तेंदुए ओर एक हिरण की खाल बरामद हुई। कड़ाई से पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि एक माह पहले बारनवापारा सेंचुरी क्षेत्र में तीर-धनुष से तेंदुए का शिकार किया था। तेंदुए की खाल की कीमत इंटरनेशनल मार्केट में 25 लाख और हिरण की 5 लाख रुपए बताई जा रही है। आरोपियों से तीर-धनुष, मोबाइल और कैश भी बरामद हुआ है।

error: Content is protected !!