कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाने से पहले अपना कार्यकाल याद करें बीजेपी नेताः मोहम्मद असलम

भाजपा नेताओं को झूठ बोलने और अफवाह फैलाने में महारत हासिलः कांग्रेस

रायपुर। कांग्रेस ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और अन्य नेताओं के प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर दिए जा रहे बयानों पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। प्रदेश प्रवक्ता मोहम्मद असलम ने कहा कि कांग्रेस सरकार पर कोई भी आरोप लगाने से पहले भाजपा नेताओं को अपने 15 साल के कार्यकाल को याद कर लेना चाहिए। भाजपा नेता जिस तरह से झूठ बोलते हैं यह उनके प्रशिक्षण का ही हिस्सा है, उन्हें झूठ बोलने और अफवाह फैलाने में महारत हासिल है। 15 साल के बीजेपी शासनकाल में हजारों महिलाएं और नाबालिग बच्चे लापता हुए, आदिवासी आश्रमों में बालिकाओं से दुराचार की अनेक घटनाएं हुईं। हत्या, लूट, बलात्कार की सैकड़ों घटनाएं हुई। इनके कार्यकाल में ऐसी कई दिल-दहलाने देने वाली घटनाएं भी हुई जो शायद उन्हें स्मरण नहीं हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि हम उन घटनाओं की याद दिलाना नहीं चाहते लेकिन यह जरूर बताना चाहेंगे कि भूपेश सरकार में किसी भी अपराध पर कार्रवाई न हो यह नामुमकिन है।

मोहम्मद असलम ने जारी बयान में कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस किसी भी अपराध को रोकने और अपराधियों को सजा दिलाने के लिए पूरी तरह से गंभीर है। अपराधियों की धरपकड़ हो रही है और अपराध दर्ज हो रहे हैं। यही वजह है कि अपराधियों में खलबली मची हुई है। कांग्रेस सरकार में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है। अपराध रोकने, अपराध दर्ज करने, अपराधियों को पकड़कर सजा दिलाने तक छत्तीसगढ़ की पुलिस पूरी जिम्मेदारी से अपनी ड्यूटी कर रही है। यही कारण है कि छत्तीसगढ़ में पुलिसिंग और कानून व्यवस्था की स्थिति कई राज्यों की तुलना में बेहतर व सराहनीय है। राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति सुदृढ़ और नियंत्रण में है, कहीं भय-आतंक का वातावरण नहीं है। भूपेश बघेल की संवेदनशील सरकार की स्पष्ट नीति है कि अपराधी बचेगा नहीं और निर्दोष फंसेगा नहीं। कांग्रेस शासन में पुलिस की तत्परता और सक्रियता का इससे बड़ा प्रमाण क्या होगा कि उसने सालों से प्रदेश और राजधानी में हो रही ड्रग तस्करी का ना सिर्फ खुलासा किया बल्कि इस मामले में लगभग डेढ़ दर्जन लोगों को गिरफ्तार भी किया। हत्या-लूट जैसे मामलों में वारदातों में तत्परता के साथ आरोपियों की गिरफ्तारी हो रही है। छत्तीसगढ़ पुलिस ने दुष्कर्म जैसे मामले में 36 घंटे से भी कम समय में चालान पेश कर मिसाल कायम किया है। जुए-सट्टे जैसे अवैध कारोबार रोकने भी पुलिस लगातार अभियान चला रही है। भाजपा नेताओं को इसके लिए पुलिस की सराहना करनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिनके कार्यकाल में झीरम जैसी नक्सली वारदात हुई और कांग्रेस को अपनी शीर्ष नेताओं की शहादत देनी पड़ी। वे लोग कांग्रेस को भय और आतंक की पाठ न पढ़ाएं तथा कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़ा न करे। भाजपा नेताओं को यह नहीं भूलना चाहिए कि उनके शासन काल में नक्सली समस्या तीन जिलों से 16 जिलों तक फैल गई थी। अब कांग्रेस शासन काल में नक्सली गतिविधि भी सिमट रही है, जो भूपेश सरकार की नीतियों का ही परिणाम है।

error: Content is protected !!