केन्द्री की घटना दुःखद, स्तरहीन राजनीति न करे रमन सिंह : धनेन्द्र साहू

०० रमन सिंह के आधारहीन आरोपों से सबको तकलीफ

रायपुर। केन्द्री की घटना पर अभनपुर विधायक और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता धनेंद्र साहू ने कहा है कि यह घटना सबके लिये दुखद है। इतनी मार्मिक घटना पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के द्वारा की जा रही राजनीति से पूरे प्रदेश को तकलीफ हुयी है। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने केन्द्री गाँव जाकर सरकार के ऊपर कुछ भी आधारहीन आरोप लगाये है। बेहतर होता कि  रमनसिंह  ऐसी बात कहने के पहले हकीकत को जान और समझ लेते। यह अच्छा है रमन सिंह गांव गये है। पहली बार उन्हे 15 साल सत्ता में रहने के बाद जनता की सुध आ रही है। अब उनकी आत्मा जागृत हुई है। उनके शासन काल में हजारो लोग प्रदेश में आत्महत्या से मरे लेकिन कभी रमन सिंह ने सांत्वना के दो शब्द पीड़ित परिवारो के लिए नही कहे। मेरे अभनपुर विधानसभा क्षेत्र में ही कईयों ने आत्महत्या किया। तब भी रमनसिंह जी ने न कुछ कहा न कुछ किया। आज सत्ता से उतरने के बाद रमनसिंह की आत्मा जागृत हुई है। उन्होंने कहा कि विपक्ष में होने मात्र से कुछ भी आरोप लगाकर ऐसी स्तरहीन राजनीति करना शोभा नही देता है। मुद्दाविहीन भाजपा और रमन सिंह एक पूरे परिवार की मृत्यु की दुखद घटना पर जो राजनीति कर रहे है, वह न तो पूर्व मुख्यमंत्री की गरिमा के अनुरूप है और न ही राज्य के प्रमुख विपक्षी दल से ऐसी अपेक्षा की जाती है। कोरोना की आपदा के बावजूद छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था देश के अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है। छत्तीसगढ़ में व्यापार, उद्योग का ग्रोथ रेट बढ़ा है। राज्य में बेरोजगारी में कमी आई है। जीएसटी कलेक्शन बढ़ा है। छत्तीसगढ़ में मजदूर, किसान, वनोपज के संग्राहकों की आय बढ़ी है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व अभनपुर के विधायक धनेन्द्र साहू घटना की जानकारी मिलते ही ग्राम केन्द्री पहुंचकर मृतक के भाई एवं उनके पड़ोसी से मिले और उनके आस-पास के लोगों से भी मिलकर चर्चा की। केन्द्री में ही कमलेश साहू द्वारा अपने परिवार को मारकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया था। उल्लेखनीय है कि केन्द्री गांव अभनपुर विधानसभा में ही आता है और पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री धनेन्द्र साहू अनेक बार अभनपुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके है। वर्तमान में भी अभनपुर के विधायक हैं।  अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू ने बताया कि मिली जानकारी अनुसार मृतक के घर में, खाने पीने की कोई कमी नही थी। घर पर चांवल भी रखा हुआ था। मृतक मेहनतकश व्यक्ति था। पति पत्नी दोनो कमाने जाते थे। उनकी माता को भी पेंशन की राशि एवं चांवल मिला है। वह परिवार अभावग्रस्त नहीं था। जिन्दगी जी रहा था। इस घटना से सारे लोग हतप्रभ है। उन पर किसी का कर्जा भी नही था। कहीं कोई अन्य तकलीफ भी नही थी। फिर भी ऐसी घटना होना सभी के लिए दुख की बात है। अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू ने बताया कि पुलिस के द्वारा जांच की जा रही है और अभी प्रारंभिक जांच में जो बाते सामने आयी है। कमलेश मृतक ने किन्ही भी कारणो से अपनी पत्नी की हत्या किया एवं बच्चों का गला घोटकर हत्या किया और फिर खुद फांसी के फंदे में झूल गया।

error: Content is protected !!