कार्यपालन अभियंता की उदासीनता से खाडा बांध टूटा- सौरव मिश्रा

जल संसाधन के कार्यपालन अभियंता साहू को निलंबित कर जांच कराए जाने विभागीय मंत्री एवं मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

मनेन्द्रगढ़। जवाहर बाल मंच कोरिया के जिला संयोजक एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सौरव मिश्रा ने जिला मुख्यालय में खाडा बांध के टूटने से ग्रामीणों के फसलों को होने वाले नुकसान को बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए जल्द से जल्द मुआवजा दिलाने की मांग की ब्लॉक प्रवक्ता ने विभागीय मंत्री रवींद्र चौबे को पत्र लिख कर जल संसाधन के कार्यपालन अभियंता विनोद शंकर साहू को निलंबित करते हुए प्रदेश स्तरीय टीम से जाँच कराने की माँग की है ब्लॉक प्रवक्ता ने पत्र में उल्लेख किया कि बांध के जल स्तर में बढ़ावा तो खुद ही लापरवाही एवं उदासीनता को छुपाने का एक बहाना मात्र है बाँध टूटने की असली वजह बांध में रिसाव की जानकारी होने के बाद भी मेंटनेश कार्य नही किया गया है मिश्रा ने पत्र में लिखा कि बैकुंठपुर में खाडा बांध टूटना केवल एक उदाहरण मात्र है बैकुंठपुर तहसील अंतर्गत मुरमा बांध भी लीक कर रहा है भरतपुर के तरतोरा बांध की भी मिट्टी धंसने की खबर आ चुकी है साथ ही खड़गवां के सलका बांध बैकुंठपुर के सिलफोटवा बांध की भी हालत ठीक नही है ऐसे ही जल संसाधन के कार्यपालन अभियंता विनोद शंकर साहू के कार्यकाल में किसी भी प्रकार का मेंटनेश कार्य नही कराया जाता है साथ ही जो नए निर्माण कार्य हो रहे है वो भी गुणवत्ता विहीन है जिसके कारण आए दिन इस प्रकार की धटना होने का भय बना रहता है ब्लॉक प्रवक्ता मिश्रा ने पत्र में लिखा कि बांध टूटने से किसानों की कई एकड़ फसलों को नुकसान हुआ है जिसका जल्द से जल्द सर्वे कर मुआवजा दिलाने निर्देशित किया जाए साथ ही कार्यपालन अभियंता विनोद शंकर साहू को निलंबित करते हुए उनके कार्यकाल में हुए समस्त निर्माण कार्यों एवं मेंटनेश के नाम पर आहरित राशि की जाँच करा कर गुणवत्ता विहीन कार्यों को चिन्हित किया जाए ताकि वहाँ मेंटेनेंस का कार्य किया जाए अगर इसपर ध्यान नही दिया गया तो जिस प्रकार अभी खाडा बांध टूटने से आर्थिक हानि हुई है भविष्य में किसी निर्माण कार्य से आर्थिक के साथ साथ मनुष्यों एवं जीव जंतुओं के जीवन को भी खतरा हो सकता है ब्लॉक प्रवक्ता ने बताया कि लगातार गुणवत्ता विहीन कार्यो एवं विभाग के प्रति उदासीनता के कारण ही कार्यपालन अभियंता की शिकायत संचालक सचिव से लेकर विभागीय मंत्री एवं मुख्यमंत्री तक होती रही है जिसको देखते हुए कार्यालय प्रमुख अभियंता जल संसाधन विभाग द्वारा जारी आदेश के तहत तत्कालीन कार्यपालन अभियंता विनोद शंकर साहू को कार्यपालन अभियंता जल संसाधन सम्भाग बैकुंठपुर जिला कोरिया के पद से हटाकर महानदी जल विवाद प्रकोष्ठ कार्यालय प्रमुख अभियंता के पद पर पदस्थ किया गया परन्तु कोरोना महामारी एवं सेवानिवृत्त होने में एक वर्ष से कम समय को देखते हुए न्यायालय ने आदेश पर रोक लगा दी थी जिसके बाद से कार्यपालन अभियंता जल संसाधन सम्भाग बैकुंठपुर जिला कोरिया के पद पर पदस्थ विनोद शंकर साहू द्वारा खुद को विभाग से ऊपर समझने लगे है इसलिए उनको निलंबित कर जाँच किया जाना आवश्यक है ताकि आम जन मानस को ये संदेश दिया जा सके कि राज्य सरकार ऐसे किसी भी लापरवाह अधिकारी एवं कर्मचारी के पक्ष में नही है।

error: Content is protected !!