कोरोना वायरस के म्यूटेशन अर्थात वायरस के जीन में बदलाव की वजह से अधिक संक्रमण फैल रहा है, इससे घबराने की जरूरत नहीं : विकास उपाध्याय 

रायपुर। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय पिछले 2 दिनों में देश व विदेश से अपने परिचित कई चिकित्सक व विशेषज्ञ लोगों से बात कर इस बात की जानकारी ली है कि आखिर बड़े तादात में कोरोना संक्रमण फैलने का कारण क्या है और इस स्थिति में यह कितना घातक साबित हो सकता है। इसको लेकर क्या विशेष सावधानी बरती जाए। विकास उपाध्याय ने इस चर्चा के बाद आज अपने अनुभव साझा कर कहा कि कोरोना वायरस के म्यूटेशन अर्थात वायरस के जीन में बदलाव की वजह से अधिक संक्रमण फैल रहा है, जिसका नाम वैज्ञानिकों ने D614G दिया है, इन विशेषज्ञों का मानना है कि यह म्यूटेशन वायरस पहले की अपेक्षा 10 गुना ज्यादा तेजी से फैल रहा है, यही वजह है कि छत्तीसगढ़ समेत पूरे देश में कोरोना संक्रमण के ज्यादा मामले आ रहे हैं।

विकास उपाध्याय ने चर्चा में हुई बातों का विस्तृत विवरण देते हुए मीडिया को जारी बयान में कहा कि कोरोना के D614G म्यूटेशन भले ही 10 गुना ज्यादा तेजी से फैल कर लोगों को संक्रमित कर रहा है पर यह कम जानलेवा है और यही वजह है कि भारत में कोरोना से होने वाले मृत्यु दर घट कर अचानक से 1.6% हो गई है। विकास उपाध्याय ने कहा कि वायरस का ज़्यादा संक्रामक लेकिन कम घातक होना अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि ज़्यादातर वायरस जैसे-जैसे म्यूटेट करते हैं यानी कि उनके जीन में बदलाव आता है, वैसे-वैसे वो कम घातक होते जाते हैं और आज वही हो रहा है, परन्तु संक्रमण के फैलाव के चलते लोगों में डर व दहसद की स्थिति बनी हुई है, जो आज हमारे लिए बड़ी चुनौती है कि लोगों के मन से इस डर को कैसे खत्म किया जाए। विकास उपाध्याय ने कहा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इसी बात को ध्यान में रख लोगों के बीच हमें काम करने का निर्देश दिया है और वे लगातार अधिकारियों की बैठक लेकर सरकार द्वारा इस वैश्विक महामारी में सरकार द्वारा की गई व्यवस्था को संक्रमित लोगों को बताने व उनसे संपर्क में रहने की हिदायत दे रहे हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर मेरे द्वारा हेल्प लाइन की शुरुआत की गई है तो मैं स्वयं अपने मोबाइल में लगातार इन्हीं जरूरतमंद लोगों से लगातार सुबह से रात तक बात कर चिन्हित क्वारंटाइन सेंटरों में भेजने व उनको भर्ती करने का काम मेरे द्वारा किया जा रहा है।विकास उपाध्याय ने बताया कोरोना को लेकर लोगों में डर को  कम करने के उद्देश्य से ही उनके द्वारा LED युक्त गाड़ियों को शहर में संचालन किया जा रहा है, जिसमें कोरोना से पीड़ित हो चुके पर अब ठीक हो कर अपने घरों में हैं का अनुभव वीडियो के माध्यम से लोगों को साझा किया जा रहा है तो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के संदेश को जन जन तक पहुंचाने कोरोना से बचाव व सावधानी को भी इस LED के स्क्रीन में दिखाया जा रहा है और इसका व्यापक असर लोगों के बीच देखने को मिल रहा है। लोग स्वस्फूर्त जाँच केन्द्र में पहुँच कर अपना व पूरे परिवार का जाँच करवा रहे हैं।अब यह डर लोगों में नही है कि पॉजिटिव रिपोर्ट आएगा तो क्या होगा। विकास उपाध्याय लगातार इन जाँच केन्द्रों में जा कर जायजा ले रहे हैं और जरूरत के हिसाब से लोगों को उचित सेन्टरों में भेजने का काम कर रहे हैं।

error: Content is protected !!