जवानों को निशाना बनाने के लिए नक्सलियों ने लगाया विस्फोटक, 41 किलो के 7 कमांड आईईडी बरामद

०० सीआरपीएफ कैंप से किमी दूर जगरगुंडा मार्ग पर 41 किलो के आईईडी बरामद

रायपुर/दंतेवाड़ा| दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने एक बार फिर जवानों को निशाना बनाने का प्रयास किया, सीआरपीएफ जवान कोरोना संक्रमण के दौरान ग्रामीणों को राहत सामग्री बांटकर लौट रहे थे। इस दौरान रास्ते में करीब 41 किलो के 7 कमांड आईईडी बरामद हुए हैं। इन्हें समय रहते डिफ्यूज कर दिया गया। घटना सीआरपीएफ कैंप से महज 3 किमी दूर हुई। इसकी पुष्टी सीआरपीएफ डीआईजी डीएन लाल ने की है।

जानकारी के मुताबिक, सीआरपीएफ 231वीं बटालियन का कैंप कोंडासावली गांव में है। जवान यहां से सिविक एक्शन प्लान के तहत ग्रामीण बस्ती में खाद्य सामग्री और कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए अन्य सामान बांटने गए थे। इस दौरान ग्रामीणों को संक्रमण से निपटने के उपाय और सरकार की गाइडलाइन के बारे में जानकारी दी गई। वहां से लौटने के दौरान रास्ते में जवानों को जगरगुंडा मार्ग पर दो नक्सली भागते हुए दिखाई दिए। इस पर जवानों ने उनका पीछा किया, लेकिन जंगल की आड़ लेकर वह भाग निकले। इसके बाद जवानों ने रास्ते में और आसपास सर्चिंग अभियान चलाया। इसमें 7 आईईडी बम बरामद हुए हैं। इसमें 3 टिफिन बम 18 किग्रा, 3 छाता टाइप बम 15 किग्रा, 1 कुकर बम 8 किग्रा शामिल है। इन सारे बमों को बटालियन की बीडीडीएस टीम ने डिफ्यूज किया है। फिलहाल इलाके में सर्चिग बढ़ा दी गई है।

error: Content is protected !!