खड़गंवा ब्लॉक मे भ्रष्टाचार अपने चरम सीमा पर है

कार्यवाही के नाम पर केवल खानपुर्ति कर रहे हैं अधिकारी

आर के शर्मा

कोरिया। खड़गंवा विकास खंड मे चल रहे मनरेगा के निर्माण कार्यो मे भारी भ्रष्टाचार किया जा रहा है खड़गंवा विकास खंड के ग्राम पंचायत कोड़ा के पंच एवं ग्रामीणों ने कलेक्टर कोरिया को शिकायत की है की घाट पचरी निर्माण कार्य जो मनरेगा योजना के तहत कराये जा रहे हैं पूर्ण रूप से गुणवत्ता विहीन और घटिया निर्माण समाग्री से कराये जा रहे हैं और निर्माण कार्य इस्टीमेंट के अनुसार कार्य नहीं कराया जा रहा है पंच एवं ग्रामीणों ने ये भी आरोप लगाया कि निर्माण कार्य में जो गिट्टी सीमेंट आदि का उपयोग किया जा रहा है वो पूर्ण रूप से घटिया और गुणवत्ता विहीन कार्य कराया जा रहा है इसकी शिकायत पंचो ने तकनीकी सहायक को भी दी है पर तकनीकी सहायक ने निर्माण कार्य पर किसी प्रकार कि कोई रोक नहीं किया जबकि पंच एवं ग्रामीणों ने बताया कि तकनीकी सहायक के समाने घटिया गिट्टी जो हाथ की तोड़ी हुई एवं आस पास के जंगलों से एकत्र की हुई गिट्टी का उपयोग कर घाट पचरी का निर्माण कार्य कराया जा रहा है।

पंच एवं ग्रामीणों ने इस निर्माण कार्य कि जानकारी जब ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के एस डी ओ को दी तो उनके द्वारा भी कोड़ा ग्राम पंचायत के घाट पचरी निर्माण कार्य का निरीक्षण किया गया मगर निरीक्षण के समय अधिकारी ने किसी भी शिकायतकर्ता को नहीं बुलाया और निर्माण कार्य का निरीक्षण कर चले गए इससे ऐसा लगता है कि मनरेगा के निर्माण कार्य में हो रहे भ्रष्टाचार मे ये विभागीय अधिकारियों का सह प्राप्त प्रतीत होता है।

इस निर्माण कार्य के संबंध में जब संरपच ग्राम पंचायत कोड़ा के पंकज सिंह से फोन से संपर्क कर निर्माण कार्य के संबंध में जानकारी चाही तो उन्होंने कहा कि मुझ पर बेवजह आरोप लगाया जा रहा है।

ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के खड़गंवा विकास खंड के एस डी ओ के के चौधरी से निर्माण कार्य के संबंध में जानकारी चाही तो उन्होंने कहा कि मुझे फोन से जानकारी मिली थी कि घाट पचरी निर्माण कार्य घटिया एवं गुणवत्ता विहीन समाग्री का उपयोग कार्य किया जा रहा है जिसका मैंने निरीक्षण किया और तत्काल गिट्टी को स्थान से हटाने और इसका उपयोग नहीं करने का निर्देश दिया।

error: Content is protected !!