इतिहास गवाह, देश मे आये संकट पर भाजपाइयों ने हमेशा ही पीठ दिखाया : तिवारी

०० भाजपाई संकट की घड़ी में सस्ती लोकप्रियता पानेनियमो की उड़ा रहे धज्जियां : कांग्रेस 

रायपुर। देश मे आये संकट की घड़ी में आज़ादी से लेकर कोरोना महामारी तक भाजपा का रैवैया पीठ दिखाने और सस्ती राजनीति पाने से ज्यादा कुछ भी नही। कोरोना संक्रमण से आज समूचे मानव जगत में त्राहि-त्राहि मचा हुआ है। पूरे विश्व मे संक्रमितों की संख्या लगभग 70 लाख के करीब है, भारत मे यह संख्या 3 लाख के करीब है।

छत्तीसगढ प्रदेश कांग्रेस वरिष्ठ प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने प्रदेश भाजपाइयों पर संकट की घड़ी में सस्ती लोकप्रियता पाने, नियमो की अवहेलना का आरोप लगाते हुए कहा कि, प्रदेश में लगभग 3 लाख प्रवासी मजदूरों की वापसी भूपेश सरकार की गरीब मजदूरों के प्रति संवेदनशीलता का परिचायक है। इतनी बड़ी संख्या में मजदूर अपने अपने गाँव की पंचायत व्यवस्था के अनुसार स्कूल, सामुदायिक भवन में बनाये गये क्वारेन्टीन सेंटर पर रह रहे हैं और मजदूर अपने गाँव मे नही रहेंगे तो कहा रहेंगे, समूची व्यवस्था ग्राम पंचायत तथा ग्रामीणों की ही है, भाजपाई उन सेंटरों पर बिना अनुमति, बिना मास्क लगाये घुस रहे हैं, जो कि नियम विरुद्ध कार्य है। भाजपाई ग्रामीण व्यवस्था का विरोध कर ग्राम सभा, ग्राम पंचायत के विरुद्ध कार्य कर रहे हैं, जिससे गांव की व्यवस्था पर स्वयं को विरोधी बना रहे हैं। वर्तमान दौर राजनीति करने का नही है, मानव सेवा और सतर्क, सुरक्षित रहते हुए नियमो को पालन करने है, मगर राजधानी रायपुर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय से लेकर महासमुंद में पूर्व विधायक तमाम भाजपाई कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और मापदंडों की लगातार अवहेलना कर सस्ती लोकप्रियता पाने ओछी राजनीति कर रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने भाजपाइयों से कुछ आवश्यक सवाल पूछे हुए कहा कि,जबरन घुसकर गांव की व्यवस्था और करोना से लड़ाई में विघ्न डालने की भाजपा की चाल का पूरे प्रदेश में विरोध हो रहा है। केंद्र सरकार ने कोविड19 की माहमारी मे जो अधिनियम बनाया है क्योरन्टीन सेंटरो में आने जाने के लिए क्या है वो नियम है.? बीजेपी नेताओं के पास क्योरन्टीन सेंटर में जाने की प्रसासनिक अनुमति नही थी तब भी वो क्योरन्टीन सेंटर जबरन क्यों गए ? क्या मोदी सरकार ने बीजेपी नेतागणों को बिना अनुमति क्योरन्टीन सेंटर जाने की छूट दी है?? क्या केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने किसी तरह की एडवाइजरी जारी की है जिसमे क्योरन्टीन सेंटरो या भवनों, स्थलों में बिना सुरक्षा उपकरणों जैसे N95 मास्क, PPE कीट के बगैर जाने का कोई नियमावली आदेश हो.? प्रदेश कांग्रेस वरिष्ठ प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने भाजपा नेताओ से अनुरोध करते हुए कहा कि, ऐसी कोई नियमावली या आदेश  उनके पास हो तो  सार्वजनिक करे या फिर बिना अनुमति क्योरन्टीन सेंटर में जाने के लिए जनता से माफी मांगे।

error: Content is protected !!