सत्ता से बाहर होने के बाद बृजमोहन अग्रवाल,राजेश मूणत,सुनील सोनी की राजधानीवासियों की चिंता सिर्फ राजनीतिक : कांग्रेस

०० रमन सरकार में 15 साल तक कद्दावर मंत्री रहे बृजमोहन अग्रवालराजेश मूणत के निष्क्रियता के कारण राजधानी में पीलिया की गम्भीर समस्या

रायपुर। राजधानी में महामारी संकट के साथ  पीलिया के लक्षण पाए जाने के लिए कांग्रेस ने पूर्व रमन सरकार में कद्दावर मंत्री कहलाने  वाले बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत को जिम्मेदार ठहराया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि ये राजधानी का दुर्भाग्य है कि पूर्व के रमन सरकार में कद्दावर मंत्री कहलाने वाले बृजमोहन अग्रवाल और राजेश मूणत एवं वर्तमान सांसद पूर्व महापौर सुनील सोनी के रहते रायपुर नगर निगम मूलभूत समस्याओं को दूर करने संसाधनों  की कमी से जूझता रहा है। दोनों पूर्व मंत्री राजधानी की समस्याओं को लेकर कभी जागरूक संवेदनशील नहीं दिखते। रायपुर की सूरत और सीरत बिगाड़ने के लिए जितना जिम्मेदार राजेश मूणत है उतना ही बृजमोहन अग्रवाल भी है। पूर्व की रमन सरकार के 15 साल का रिकॉर्ड  देखेंगे तो  राजधानी रायपुर में हर साल पीलिया की बीमारी ने पैर पसारा है। कांग्रेस विपक्ष में रहते हुए हमेशा पीलिया, मलेरिया, टाइफाइड, बढ़ते प्रदूषण के कारण दमा, अस्थमा जैसी बीमारियों से आम जनता को बचाने लगातार पूर्ववर्ती सरकार को आगाह करते रही है। लेकिन विकास कार्यों के नाम से कमीशनखोरी, भ्रष्टाचार में मशगूल रमन सरकार आम जनता को स्वच्छ हवा, साफ़ पानी जैसे मूलभूत सुविधाएं देने में असफल रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि रमन सरकार के दौरान दोनों मंत्रियों ने मात्र कमीशनखोरी करने के नियत से राजधानी में विकास कार्यों के नाम से गरीबों के मकान दुकान को तोड़ने का काम किया। सरकारी खजाना में भ्रष्टाचार करने अनुपयोगी निर्माण कार्य करवाएं। पूर्व की रमन सरकार ने रायपुर नगर निगम के कांग्रेस के परिषद के द्वारा आम जनता के स्वास्थ्य के लिए स्वच्छ पेयजल और साफ-सफाई के लिए बनाए गए योजनाओं पर अड़ंगा लगाने का काम किया। नगर निगम को अफसरशाही तंत्र के हवाले कर जनता के चुने हुए जनप्रतिनिधियों के आवाज को दबाने का, कुचलने का काम किया। एमआईसी के प्रस्ताव को दरकिनारे कर नगर निगम के अधिकारों का हनन किया। मनमानी तरीके से निगम क्षेत्र में कई ऐसी योजनाएं लाई गई जो राजधानी के लिए आज नुकसानदेह साबित हो रही है। आम जनता की गाढ़ी कमाई को कमीशन खोरी के जरिए लूटने वाले भाजपा के नेताओ को सत्ता जाने के बाद अब राजधानीवासियों की चिंता हो रही है। असल में यह भाजपा नेताओं की मजबूरी है ये राजधानी वासियों की चिंता नहीं बल्कि ये राजधानीवासियों की चिंता करने के नाम से मात्र राजनीति रोटी सेक रहे हैं। ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री माननीय भूपेश बघेल की सरकार ने राज्य के सभी नगर निगम को टैंकर मुक्त करने, स्वच्छ जल घर-घर पहुंचाने और साफ सफाई व्यवस्था को चाक-चौबंद करने का लक्ष्य रखा है।राजधानी सहित पूरा प्रदेश आने वाले दिनों में जल जनित बीमारियों से मुक्त होगा।

 

 

error: Content is protected !!