कोरबा लोकसभा सांसद ज्योत्सना महंत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र

०० अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों के कुशल घर वापसी हेतु विशेष ट्रेन की व्यवस्था किये जाने की मांग की  

रायपुर| कोरबा लोकसभा सांसद ज्योत्सना महंत ने अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों के कुशल घर वापसी हेतु विशेष ट्रेन की व्यवस्था के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है| सांसद ज्योत्सना महंत ने अपने पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ षासन के कुषल मार्गदर्षन एवं नेतृत्व में छत्तीसगढ़ षासन कोविड-19 से बचाव एवं नागरिकों की रक्षा हेतु निरन्तर प्रयासरत है । मुझे पूरा विष्वास है कि माननीय मुख्यमंत्री जी, छत्तीसगढ़ षासन द्वारा इस विशय में एहतियातन लिए गए दूरगामी फैसलों का निष्चित ही बहुत अच्छा परिणम हमें प्राप्त होगा । मैं इस महामारी के लिए छत्तीसगढ़ षासन द्वारा बचाव हेतु किए गए उपायों एवं निर्णयों का स्वागत करती हॅूं और त्वरित रूप से छत्तीसगढ़ षासन द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना करती हॅूं । 

सांसद ज्योत्सना महंत ने कहा कि महोदय, लॉकडाउन के कारण छत्तीसगढ़ तथा अन्य राज्यों के छात्र जो कोटा में फसे हुए थे उन्हें गृह मंत्रालय की अनुमति से कुषलता पूर्वक राज्य सरकारों ने बसों के माध्यम से कोटा (राजस्थान) से संबंधित राज्यों तक पहुॅचाया है ।  महोदय, मेरा लोकसभा क्षेत्र कोरबा आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है तथा अत्यन्त पिछड़े हुए लोगों का निवास है । कोरोना महामारी में लॉकडाउन से उत्पन्न विशम परिस्थिति के कारण पूरे देष में छत्तीसगढ़ के समस्त जिलों से हजारों की संख्या में श्रमिक भाई-बहन अपने परिवार के साथ फंसे हुए हैं । देष के अन्य राज्यों में फंसे हुए छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की कुषल घर वापसी हेतु केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार पूर्ण रूप से वचनबद्ध है किंतु आज दिवस तक तत्संबंध में कोई भी सकारात्मक पहल नहीं हो पायी है । देष के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन के कारण फसे श्रमिक मजदूरों के समक्ष जीवन संकट्टापन्न हो गया है, यह अत्यन्त दुःखद है। महोदय, डॉ. चरणदास महंत, माननीय अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ विधान सभा द्वारा लोक सभा अध्यक्ष, माननीय श्री ओम बिरला जी के साथ दिनांक 21 अप्रेल, 2020 को हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिग में भी प्रदेष के जो मजदूर अभी अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं और अभी तक वापस नहीं लोटें हैं उनकी भी घर वापसी के लिए चिंता व्यक्त की गयी । उन्होंने कहा कि मजदूरों की घर वापसी निर्धारित मापदण्डों का पालन करते हुए किया जाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। महोदय, छत्तीसगढ़ राज्य के माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल जी द्वारा भी केन्द्र सरकार से श्रमिकों की घर वापसी हेतु आपसे आग्रह किया गया है । राज्य सरकार, अन्य राज्यों के मजदूर जो छत्तीसगढ़ में फंसे हुए हैं उनके भोजन तथा अन्य सुविधाओं हेतु भी अपने दायित्व का सफलतापूर्वक निर्वहन कर रही है।  महोदय, दिनांक 29 अप्रेल, 2020 को गृह विभाग, भारत सरकार द्वारा एक आदेष जारी कर अन्य प्रदेषों में फसे मजदूरों, छात्रों, धार्मिक यात्राओं पर गए व्यक्तियों को एक प्रक्रिया के अंतर्गत छूट दी गयी है।  महोदय जी, मेरा तो आपसे यह अनुरोध है कि दूसरों के घरों में रोषनी पहुॅचाने वाले श्रमिकों को दलगत राजनीति से ऊपर उठते हुए छत्तीसगढ़ राज्य के श्रमिक भाई-बहनों को जो अपने छोटे-छोटे बाल-बच्चों के साथ अन्य राज्यों में फसे हुए हैं, उन सभी श्रमिक भाई-बहनों को सुरक्षित कुषल घर वापसी के लिए विषेश ट्रेन की व्यवस्था हेतु निर्णय लेने की सादर कृपा करेंगे । महोदय, मैं आपसे अपेक्षा करती हॅूं कि मेरे इस अनुरोध पर आप गंभीरता से निर्णय लेंगे और श्रमिक भईयों-बहनों के सुरक्षित घर वापसी हेतु विषेश ट्रेन की व्यवस्था संबंधी समुचित निर्णय लेंगे । 

 

error: Content is protected !!