शासन के दिशा-निर्देशोें का पालन करते हुए वनवासियों द्वारा वनोपजों का संग्रहण जारी : वन मंत्री अकबर

०० राज्य में अब तक 14 हजार क्विंटल से अधिक वनोपजों का हुआ संग्रहण

०० कबीरधाम जिले में हुई सर्वाधिक खरीदी, चालू सीजन में साढ़े आठ लाख क्विंटल वनोपजों के संग्रहण का लक्ष्य

रायपुर| वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में राज्य में शासन के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए लघु वनोपजों के संग्रहण का कार्य किया जा रहा है। इसके तहत अब तक प्रदेश में वनवासियों तथा ग्रामीणों द्वारा चालू सीजन के दौरान तीन करोड़ 16 लाख रूपए की राशि के 14 हजार 96 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है। वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि चालू सीजन के दौरान राज्य में 253 करोड़ रूपए की राशि से 8 लाख 46 हजार 920 क्विंटल लघु वनोपजों के संग्रहण का लक्ष्य है।

प्रमुख सचिव वन श्री मनोज कुमार पिंगुआ ने बताया कि इनमें निर्धारित लक्ष्य के तहत अब तक वन मंडलवार सबसे अधिक खैरागढ़ वन मंडल द्वारा 839 क्विंटल और जिलेवार सबसे अधिक कबीरधाम जिले में 545 क्विंटल लघु वनोपजों का संग्रहण हो चुका है। ग्रामीणों तथा वनवासियों द्वारा लघु वनोपजों के संग्रहण में शासन के दिशा-निर्देशों और लाॅकडाउन के दौरान नियमों का शत-प्रतिशत पालन किया जा रहा है। राज्य में अब तक संग्रहित वनोपजों में वन मंडलवार खैरागढ़ में 27 लाख रूपए की राशि के 839 क्विंटल, कवर्धा में 13 लाख रूपए की राशि के 545 क्विंटल और जगदलपुर में 80 लाख रूपए की राशि के 3 हजार 37 क्विंटल वनोपज शामिल हैं। इसी तरह वन मंडलवार दंतेवाड़ा में 46 लाख रूपए की राशि के एक हजार 573 क्विंटल, कांकेर में 12 लाख रूपए के 762 क्विंटल, बिलासपुर में छह लाख रूपए के 332 क्विंटल, बालोद में ढाई लाख रूपए के 146 क्विंटल और बीजापुर में 15 लाख रूपए के 965 क्विंटल वनोपजों का संग्रहण हो चुका है। वन मंडलवार बलौदाबाजार में 12 लाख रूपए की राशि के 582 क्विंटल, पश्चिम भानुप्रतापपुर में 4 लाख रूपए के 298 क्विंटल, सुकमा में 16 लाख रूपए के 686 क्विंटल, रायगढ़ में 5 लाख रूपए के 326 क्विंटल तथा दक्षिण कोण्डागांव में 20 लाख रूपए के 889 क्विंटल वनोपजों का संग्रहण कर लिया गया है। वन मंडल नारायणपुर में डेढ़ लाख रूपए के 9 क्विंटल, कोरबा में 7 लाख रूपए के 328 क्विंटल, पूर्व भानुप्रतापपुर में छह लाख रूपए के 271 क्विंटल, राजनांदगांव में एक लाख रूपए के 80 क्विंटल तथा धमतरी में 3 लाख रूपए के 160 क्विंटल वनोपजों का संग्रहण हो चुका है। वन मंडलवार कटघोरा में 4 लाख रूपए के 232 क्विंटल, केशकाल में 5 लाख रूपए के 318 क्विंटल, गरियाबंद में 5 लाख रूपए के 273 क्विंटल, जशपुर में 5 लाख रूपए के 280 क्विंटल, महासमुंद में एक लाख रूपए के 71 क्विंटल और सरगुजा में दो लाख रूपए के 113 क्विंटल वनोपजों का संग्रहण कर लिया गया है। इसी तरह वन मंडलवार सूरजपुर में 3 लाख रूपए के 161 क्विंटल, बलरामपुर में 3 लाख रूपए के 163 क्विंटल, कोरिया में 2 लाख रूपए के 146 क्विंटल, धरमजयगढ़ में एक लाख रूपए के 81 क्विंटल और मनेन्द्रगढ़ में लगभग एक लाख रूपए की राशि के 50 क्विंटल वनोपजों का संग्रहण हो चुका है।

 

error: Content is protected !!