सुनील सोनी सांसद निधि पीएम केयर फंड में देते है राज्य सरकार से चाहते है मदद : कांग्रेस

रायपुर। सांसद सुनील सोनी के द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों का जायजा लेने के लिए एम्स दौरे का कांग्रेस ने घड़ियाली आंसू बहाना बताया है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्यप्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि एक सांसद के नाते सुनील सोनी को यह दौरा दस दिन पहले ही कर लेना था सिविल लाइन निवास से एम्स तक का सफर करने में सांसद सोनी को दस दिन से अधिक का समय लग गया। सुनील सोनी एम्स गए भी तो सिर्फ दौरे की खाना पूर्ति करने के लिए, एम्स के चिकित्सको ने जब उनसे डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए 10,000 पीपीई किट की डिमांड की तो उन्होंने इसके लिए राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से कहा। सिंह देव ने बताया कि इसकी स्वीकृति पहले हो गयी है। सांसद के नाते सुनील सोनी को पीपीई किट और जांच किट के लिए केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री को फोन लगाना था और उनसे एम्स में सारी सुविधाएं उपलब्ध करवानी थी।

जब कोरोना से लड़ाई में मदद देना था तब तो सुनील सोनी सहित उनके सभी भाजपा के सांसद साथियों ने सांसद निधि के पैसों को पीएम केयर फंड में दान दिया किसी ने भी राज्य सरकार और मुख्यमंत्री राहत कोष में  एक रु भी मदद नही किया जबकि उनके सांसद निधि के पैसों पर राज्य की जनता और उनके क्षेत्र की जनता का पहला हक है । आज भी जब राज्य के लोगो को सन्कट की इस घड़ी में केंद्र से मदद करवाने की जरूरत है सुनील सोनी तब भी अपने इस कर्तब्य से भाग रहे है । मोदी के सामने कुछ भी मांगने का साहस नही दिखा पा रहे । राज्य सरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, तो पहले से ही कोरोना के खिलाफ इस जंग में राज्य का पूरा संसाधन झोंके हुए हैं कोई कमी नही रखी गयी है। बेहतर से बेहतर इलाज और बचाव के तमाम उपाय किये गए है ऐसे समय तो भाजपा सांसद और नेता दलीय और श्रेय लेने की क्षुद्र राजनीति से ऊपर उठ कर राज्य सरकार का सहयोग करें  ।

 

error: Content is protected !!