स्वास्थ्य मंत्री ने लक्षित लोगों के सेम्पल जांच में तेजी लाने के दिए निर्देश

०० स्वास्थ्य मंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की

रायपुर| स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए आज वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए अधिकारियों को लक्षित लोगों का परीक्षण तेजी से करने के निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह आज अपने निवास से स्काईप के माध्यम से राज्य स्तरीय कंट्रोल एण्ड कमाण्ड सेंटर के अधिकारियों से कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु राज्य में किए जा रहे प्रयासों की अद्यतन की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक को सभी जिलों में आवश्यकता के अनुसार मास्क एवं व्यक्तिगत सुरक्षा सामग्री की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। ज्ञातव्य है कि स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव अंतर्राज्यीय प्रवास के बाद एहतियातन 27 मार्च से 14 दिन के होम क्वॉरेंटाइन में हैं।

स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए रोजाना एक हजार लोगों की टेस्टिंग की व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। बैठक में स्वास्थ्य सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने बताया कि वर्तमान में रोजाना 80 से 100 लोगों की कोरोना संक्रमण की सेम्पल जांच एम्स रायपुर एवं मेडिकल कॉलेज जगदलपुर में की जा रही है। अब तक 376 लोगों की जांच की जा चुकी है। अभी तक 7 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है, जिनका इलाज किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण की सेम्पल जांच के लिए राज्य के सभी जिलों में टीम को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। सभी जिलों में सेम्पल लेने के लिए वीटीएम (वायरल ट्रांसमिशन मीडिया) किट भी उपलब्ध कराई गई है। समीक्षा के दौरान यह भी जानकारी दी गई कि कोरोना से संक्रमित प्रथम मरीज की स्थिति में सुधार हो रहा है। वर्तमान में राज्य में समुदाय स्तर पर कोरोना के संचरण का प्रमाण नहीं मिला है। राज्य में इस महामारी की रोकथाम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा यूनिसेफ की टीम भी आवश्यक सहयोग कर रही है। कोरोना की रोकथाम के लिए राज्य सर्विलेंस इकाई के अंतर्गत अधिकारियों एवं कर्मचारियों की नामजद ड्यूटी भी कान्टेक्ट ट्रेसिंग, सेम्पल टेस्टिंग एवं रिर्पोटिंग के लिए लगाई गई है। समीक्षा के दौरान प्रबंध संचालक सीजीएमएससी श्री भुवनेश यादव, संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. प्रियंका शुक्ला, संचालक स्वास्थ्य श्री नीरज बंसोड़ एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!