चरामेति फाउंडेशन द्वारा असहाय गर्भवती महिला को उपलब्ध कराई गई जरूरत की सामग्री

रायपुर| रायपुर स्थित एक महिला (परिवर्तित नाम- स्नेहा दीदी, पहचान छिपाने के उद्देश्य से चेहरा भी ढका गया है) के पति का देहांत 3 माह पूर्व हो गया था और उनके  आगे पीछे परिवार का कोई सदस्य न होने की वजह से पड़ोसियों की मदद से वर्तमान में वे अपनी  रहने खाने की व्यवस्था कर रहीं थीं।

चरामेति फाउंडेशन, रायपुर की महिला विंग के सदस्यों ने स्नेहा दीदी के घर जाकर उनका हालचाल जाना और उनके बारे में पड़ताल की तो जानकारी सही पाई गई। यह भी देखा गया कि वे बहुत गरीब स्थिति में है और राशन सामग्री,  कपड़े आदि की उन्हें तुरंत आवश्यकता है। अतः संस्था ने उनकी मदद के लिए जचकी के समय एवं बाद में भी उपयोग में आने वाली सभी सामग्री उन्हें देने का निश्चय किया| चरामेति फाउंडेशन के प्रांतीय अध्यक्ष प्रशांत महतो एवं महासचिव राजेन्द्र ओझा ने एक संयुक्त विज्ञप्ति में बताया कि   संस्था के सदस्यों एवं आम जनों के सहयोग से सभी आवश्यकता की सामग्री जुटाई गई और स्नेहांचल दीदी को  राशन सामग्री यथा – चावल, आटा,  दाल, मसाले  चिकित्सीय सामग्री , कपड़े, नवजात  शिशु के लिए मुलायम कपड़े के टावेल एवं पहनने के   कपड़े सहित  नगद 2500 रु एवं अन्य सामग्री ले जाकर दिया गया साथ ही अस्पताल में भर्ती इत्यादि के लिए सहयोग का आश्वासन दिया गया| स्नेहा दीदी का कहना है अभी 6 माह बाद किसी रोजगार से जुड़कर मैं स्वयं को संभाल लूंगी अभी इस समय चरामेति फाउंडेशन के आप सबने जो मेरी सहायता की इसे मैं जीवन भर स्मरण में रखूंगी| चरामेति फाउंडेशन रायपुर टीम व खुशबू साहू दीदी एवं महिला विंग का एक और सफल प्रयास किया जिसमे विशेष दिव्या अग्रवाल दीदी, फरजाना खातून, लालिमा साहू, श्रीमती भगवती अग्रवाल, प्रमिला शर्मा, साथ ही नेमी वर्मा भैया,चंद्र नारायण  निर्मलकर जी,प्रेम प्रकाश साहू, दीपक जायसवाल, वरुण, सुधीर शर्मा, सिन्हा जी रायगढ़ , अनिमेष सिंह बैस जी, अमित मोरांडे, महेंद्र टंडन, सूरज चंद्र, दीपक नामदेव, पवन ठाकुर, राजेंद्र ओझा प्रशांत महतो, इस कार्यक्रम के अंत तक हिस्सा रहे| चरामेति फाउंडेशन छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त  सहयोगियों जिनकी  मदद से यह प्रयास संभव हुआ, के प्रति आभार व्यक्त करता  है|

 

error: Content is protected !!