आर्थिक सर्वेक्षण से छत्तीसगढ़ की आर्थिक मजबूती स्पष्ट : कांग्रेस

०० छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कुशल वित्तीय प्रबंधन के परिणाम स्वरूप राजस्व आधिक्य की स्थिति बनी

०० कुल राजस्व प्राप्ति पिछले वर्ष की तुलना में 7.72 प्रतिशत बढ़कर 79746 करोड़ हो गयी

०० कृषि, सेवा क्षेत्र उद्योग व्यवसाय चारो ओर आर्थिक प्रगति

०० छत्तीसगढ़ में 2019-20 में राजस्व से आय बढ़ाकर 1151.47 करोड़ के राजस्व आधिक्य की प्राप्ति


रायपुर। वर्ष 2019-20 में आर्थिक सर्वेक्षण के प्रमुख बिन्दु जारी करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि एक ओर देश में जीडीपी 5 प्रतिशत से नीचे चला गया है, दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार की सशक्त और अच्छी आर्थिक नीतियों के चलते सकल राज्य घरेलू उत्पाद में प्रचलित भावों में 8.26 प्रतिशत की वृद्धि प्राप्त की गयी है और सकल राज्य घरेलू उत्पाद स्थिर भावां में भी 5.32 प्रतिशत की वृद्धि की प्राप्ति की गयी। प्रदेश की आर्थिक मजबूती इस बात से पता चलती है कि विगत वित्तीय वर्ष में राजकोषीय घाटा नहीं 1151.47 करोड़ रू. का राजस्व आधिक्य हो रहा है। राजस्व आधिक्य का बड़ा कारण वर्ष 2019-20 में कुल राजस्व प्राप्ति पिछले वर्ष की तुलना में 7.72 प्रतिशत बढ़कर 79746 करोड़ हो जाना है, जबकि राजस्व व्यय 78594.53 करोड़ है। छत्तीसगढ़ में कृषि, सेवा क्षेत्र उद्योग व्यवसाय चारो ओर विकास हो रहा है जो कि आर्थिक सर्वेक्षण के आंकड़ो से स्पष्ट है।

छत्तीसगढ़ के विकास और प्रगति के लिये कांग्रेस सरकार की नीतियों और मुख्यमंत्री के साथ-साथ वित्त मंत्री की भी जिम्मेदारी सम्हाल रहे भूपेश बघेल का कुशल वित्तीय प्रबंधन है। 11000 करोड़ की कर्जमाफी और 21095 करोड़ की 2500 रू. में धान खरीदी भूपेश बघेल सरकार की ऐसी उपलब्धियां है। जिनके छत्तीसगढ़ में कृषि के साथ-साथ छोटे-छोटे व्यापारियों और उद्योग धंधो की आर्थिक मजबूती की नींव रखने का काम किया है। प्रति व्यक्ति आय में 5685 रुपए की बढ़ोतरी अनुमानित है। जो कि वर्ष 2018-19 की तुलना में 6.35 प्रतिशत ज्यादा है। वर्ष 2018-19 में 92413 रुपए थी, जो कि बढ़कर 98281 रुपए पहुंच सकती है। जीडीपी 2018-19 की तुलना में 304063 करोड़ रुपए से बढ़कर वर्ष 2019-20 में 329180 करोड़ रुपए संभावित है। इस तरह से 8.26 त्न की वृद्धि का अनुमान है। इसमें कृषि क्षेत्र में 3.31 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र में 4.94 त्न और सेवा क्षेत्र में 6.62 प्रतिशत वृद्धि अनुमानित है। जीडीपी में इस वर्ष 7.06 फीसदी की वृद्धि हुई है। जो कि गत वर्ष 2017-18 की तुलना में 7.06 फीसदी ज्यादा है। इसमें कृषि क्षेत्र में 10.28 प्रतिशत उद्योग में 5.32 प्रतिशत और सेवा क्षेत्र में वर्ष 2018-19 में 7.76 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

 

error: Content is protected !!