मानवाधिकार आयोग व सीआईबी अधिकारी बनकर कर रहे थे उगाही, एक महिला सहित चार गिरफ्तार

०० महासमुंद के अकाल पुरख हॉस्पिटल में पहुचे थे फर्जी अधिकारी, संचालक से कर रहे थे उगाही

रायपुर| मानवाधिकार आयोग और सीआईबी अफसर बनकर अस्पताल में दबिश देने वाले चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित महासमुंद रेलवे स्टेशन के समीप स्थित अकाल पुरख अस्पताल के डॉक्टर को धमकाकर हॉस्पिटल बंद करा देने की धमकी देकर स्र्पये ऐंठने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस ने गिरफ्तार उनके पास से चार आईडी कॉर्ड बरामद किया है। जिसमें क्राइम इन्वेसटीगेशन ब्यूरो, ह्यूमन राइट्स का आईडी है। जो प्रथम दृष्टया ही फर्जी लग रहे हैं।

गौरतलब है कि शहर के प्राख्यात हॉस्पिटल अकाल पुरख में गुरूवार को सुबह साढ़े 10 बजे तीन लोग पहुंचे और हॉस्पिटल के स्टाप को बाहर जाने से मना करते हुए कहा कि हम ह्यूमन राइट्स के आफिसर हैं और हम जाँच करने आए हैं। डॉक्टर ने पूछा कि आपके पास यहाँ जाँच करने के कोई आदेश हैं तो दिखाएं। इस पर उन्होंने डॉक्टर से कहा कि थोड़ी देर रूको सब पता चल जाएगा,कहते हुए हॉस्पिटल के कर्मचारियों के साथ धक्कामुक्की करने लगे। कथित ह्यूमन राइट्स अफसरों के लोगों की हरकत देख डॉक्टर ने पुलिस की मदद ली और पुलिस को हॉस्पिटल बुला लिया| पुलिस ने तीन पुरूष और एक महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की। मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भुरकर ने जानकारी देते हुए बताया है कि ह्यूमन राइट्स के नाम से अकाल पुरख हॉस्पिटल पहुंच लोग मुम्बई से यहाँ पहुंचे हैं। प्रथम दृष्टया उनके द्वारा उगाही करने ऐसा करना प्रतीत होने और अपराध घटित होने से जुर्म दर्ज किया गया है। पुलिस में दर्ज कराए गए रिपोर्ट के अनुसार डा. दिलप्रीत कौर गुरुदत्ता पति हरजोत सिंग गुरुदत्ता अपने अस्पताल में थी। उसी समय तीन पुरूष एक महिला अस्पताल में जबरन घुसकर अपने को मानवाधिकार आयोग और सी आई बी के अधिकारी बताकर गाली गलौच कर रूपया ऐंठने का प्रयास किया। अपना नाम कासिम मोहम्मद सैय्यद, निहाल जमाल सैय्यद और सायरा इकबाल शेख बताया। इनके द्वारा लगातार फोन पर किसी छाया तिवारी नाम की महिला से बात की जा रही थी। उसी महिला के निर्देश पर इनके द्वारा काम किया जा रहा था। बताया गया है कि दो महीने से छाया तिवारी नाम की महिला अपने आप को मानव अधिकार आयोग का पदाधिकारी बताते हुए मोबाईल नम्बर 9221241895 से लगातार फोन करके धमकी देकर पैसा ऐंठने के लिए अपने परिचित एक महिला सायरा बानो और तीन पुरुष, जिनका नाम कासिम मोहम्मद सैय्यद, निहाल जमाल सैय्यद तथा एक का नाम अज्ञात है।ये लोग पूरी तैयारी के साथ अस्पताल में जबरन प्रवेश कर धमका रहे थे। पुलिस ने भादवि की धारा 171,384,452, 294, 511,34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।

 

error: Content is protected !!