मानव तस्करी की जिम्मेदारी भूपेश सरकार की : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने प्रदेश में ‘अपहरण उद्योग’ के समानांतर चल रही ‘मानव तस्करी’ को प्रदेश सरकार के कलंकपूर्ण कार्यकाल की एक नई इबारत बताते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला है। श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस सरकार छत्तीसगढ़ को अपराधगढ़ बनाने पर आमादा प्रतीत हो रही है, जिसके एक साल के शासनकाल में अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है और प्रदेश सरकार व पुलिस तंत्र आंखें मूंदे बैठे हैं।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश में अपराधों के इजाफे के साथ ही प्रदेश में जिस तेजी से अपहरण और मानव तस्करी के मामले प्रकाश में आ रहे हैं, उससे प्रदेश सरकार के तमाम दावों का खोखलापन जगजाहिर हो गया है। अपहरण तो एक उद्योग की शक्ल लेता प्रतीत हो ही रहा है, अब ‘मानव तस्करी’ की गंभीर शिकायतें प्रकाश में आ रही हैं। श्रीवास्तव  ने सवाल उठाया कि राजधानी में एक ही दिन में तीन बच्चों को अगवा करने या फिर उनके एकाएक अगवा होने की मंगलवार को घटी घटना का भी क्या मानव तस्करी से कोई कनेक्शन है? जशपुर क्षेत्र के बाद बस्तर क्षेत्र, के पांच परिवारों की लड़कियों को केरल ले जाकर किसी निजी कंपनी में बंधक बनाए जाने का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा है कि अब सरगुजा के सूरजपुर जिले के चांदनी-बिहारपुर इलाके के दर्जनभर गांवों के एक सौ से ज्यादा बच्चों और युवकों के महीनों से गायब होने के बाद भी शासन-प्रशासन की उदासीनता शर्मनाक व हैरतभरी है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि चांदनी बिहारपुर सरगुजा इलाके की जो सच्चाई सामने आई है, वह प्रदेशभर में चल रही मानव तस्करी के गंभीर अपराध की ओर संकेत कर रही है। प्रदेश की सरकार महिलाओं की सुरक्षा, भलाई और आत्मसम्मान के साथ तो खिलवाड़ कर ही रही है, बच्चों के मासूम बचपन और युवकों के भविष्य को तबाह करने के इस घिनौने कृत्य पर रोक लगाने में सरकार की नाकामी ने भी लोगों की चिंता बढ़ाई है। श्रीवास्तव ने कहा कि इन तमाम मामलों में तुरंत कड़ा कदम उठाकर प्रदेश सरकार को संवेदनशील होने की जरूरत है।

error: Content is protected !!