पीडि़त एवं जरूरतमंद महिला को उचित न्याय दिलाना महिला आयोग की प्राथमिकता: मंत्री श्रीमती अनिला भेडि़या

रायपुर| महिला एवं बाल विकास मंत्री एवं छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती अनिला भेडि़या ने आज दुर्ग जिले में महिला आयोग को प्राप्त प्रकरणों की सुनवाई करते हुए कहा कि महिला आयोगमहिलाओं की हितों की रक्षा करउन्हें आत्म-सम्मान के साथ जीवनयापन करने का अवसर प्रदान करता है। राज्य महिला आयोग पीडि़त एवं जरूरतमंद महिला को प्राथमिकता के साथ उचित न्याय दिलाने के लिए कार्य कर रहा है। महिला आयोग के समक्ष जो भी प्रकरण आते हैंउसके हर पहलुओं की जांच कर न्याय दिलाने की दिशा में भरसक प्रयास किया जाता है।
श्रीमती भेंडि़या ने कहा कि महिला आयोग को प्राप्त ऐसे प्रकरण जिसमें न्यायालयीन प्रक्रिया की जरूरत होती है वहां पीडि़त महिला को विधिक सेवा प्राधिकरण से निःशुल्क अधिवक्ता भी मुहैय्या कराया जाता है। मंत्री श्रीमती भेडि़या ने दुर्ग जिले से प्राप्त प्रकरणों की पक्षकारों की मौजूदगी में सुनवाई की। उन्होंने दोनों पक्षकारों की बातों को गंभीरतापूर्वक सुना। आयोग ने घरेलू हिंसाकार्यस्थल पर यौन उत्पीड़नदहेज प्रतिषेध अधिनियमसम्पत्ति विवादशारीरिक-मानसिक प्रताड़नामारपीट से संबंधित प्राप्त प्रकरणों पर सुनवाई की। सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों को अपनी पूरी बात रखने का अवसर दिया गया। सुनवाई के दौरान आयोग की सदस्य श्रीमती ममता साहूश्रीमती खिलेश्वरी किरण सहित आयोग के अधिकारियों ने पक्षकारों की बातों को गंभीरता से सुना। इस अवसर पर पुलिस एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

error: Content is protected !!