देखे video : पत्रकार सुरक्षा कानून लागू किये जाने की मांग को लेकर प्रदेशभर के पत्रकारों ने भरी हुंकार

०० सैकड़ो की संख्या में पत्रकारों ने महाधरना, वाहन रैली, पैदल मार्च के बाद कलेक्टोरेट परिसर में की जमकर नारेबाजी

०० पत्रकारों ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, प्र मुख्यमंत्री, पुलिस महानिदेशक तथा रायपुर संभागायुक्त के नाम जिला प्रशासन को सौपा ज्ञापन

रायपुर/महासमुंद| अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़, महासमुंद प्रेस क्लब,के सयुक्त तत्वाधान में मंगलवार 23 जुलाई 2019 छग प्रदेश के 15-16 जिलों के दो सौ से अधिक पत्रकारों ने लोहिया चौक पर धरना देकर पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग की। पत्रकारों के महाधरना से शासन-प्रशासन में हड़कंप मचा रहा। पूरे दिन पल-पल की खबरें शासन-प्रशासन के लोग लेते रहे। सामान्यत: हर वर्ग की आवाज उठाने वाले पत्रकार कभी आंदोलित नहीं होते हैं। निरंतर हो रही ज्यादती और पत्रकारों पर अत्याचार तथा पुलिस के दमनात्मक कार्यप्रणाली के विरोध में छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से महासमुंद पहुंचे पत्रकारों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया। धरना, वाहन रैली, पैदल मार्च के बाद कलेक्टोरेट परिसर में जमकर नारेबाजी हुई।

प्रदेश के पत्रकारों पर पुलिस प्रशासन की दमनात्मक कार्रवाई और लगातार हो रही ज्यादती के विरोध में महासमुंद में शुरू हुए आंदोलन की आग अब पूरे प्रदेश में फैल चुकी है। मंगलवार 23 जुलाई को महासमुंद जिला मुख्यालय में आयोजित एक दिवसीय महाधरना में प्रदेशभर से सैकड़ों पत्रकार शामिल हुए और एक स्वर में पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग उठाई। 10 से 3 बजे तकधरना-प्रदर्शन के बाद पत्रकार रैली निकालकर नारेबाजी करते हुए कलेक्टोरेट पहुंचे, जहां राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, प्रदेश के मुख्यमंत्री, पुलिस महानिदेशक तथा रायपुर संभागायुक्त के नाम जिला प्रशासन को अलग-अलग अनेक ज्ञापनसौंपा गया। अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ के जिलों से आये पत्रकार आये रायपुर,बिलासपुर, रायगढ़,कोरिया,सूरजपुर, बलरामपुर, दुर्ग,राजनादगांव, कांकेर,बीजापुर,बलौदाबाजार, अम्बिकापुर महासमुंद, गरियाबंद,जांजगीर चाम्पा, आदि जिलों पत्रकार शामिल हुए इसके अलावा कुरुद प्रेस क्लब ने भी समर्थन दिया ।

 

error: Content is protected !!