डॉ. खूबचंद बघेल के सपनों के अनुरूप नवा छत्तीसगढ़ का हो रहा निर्माण : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

०० डॉ. खूबचंद बघेल की जयंती पर नरदहा में आयोजित पुरखा के सुरता कार्यक्रम में शामिल हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल 

०० मुख्यमंत्री ने नरदहा में छ.ग.मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के बहुदेद्शीय भवन परिसर में नवनिर्मित अतिरिक्त कमरा का किया लोकार्पण 

०० भारी बारिश में भी लोग पूरे उत्साह से सुनते रहे मुख्यमंत्री को 

रायपुर| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा डॉ. खूबचंद बघेल ने छत्तीसगढ़ राज्य का जो सपना देखा था उसके अनुरूप राज्य सरकार नवा छत्तीसगढ़ का निर्माण कर रही है। डॉ. खूबचंद बघेल एक किसान के यहां पैदा हुए और खेती-किसानी से जुड़े रहे, पढ़-लिखकर डॉक्टर बने, स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। वे एक महामानव के रूप में देखे जाते है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज डॉ. खूबचंद बघेल की जयंती में रायपुर के आरंग विकासखण्ड के ग्राम नरदहा में आयोजित पुरखा के सुरता कार्यक्रम में शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने डॉ. खूबचंद बघेल के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर छत्तीसगढ़ के प्रति उनके योगदान को याद किया। मुख्यमंत्री के भाषण शुरू होने के साथ ही बारिश भी शुरू हो गई परंतु लोग भारी बारिश में भी पूरे उत्साह से मुख्यमंत्री को सुनते रहे। 


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आगे कहा कि डॉ. खूबचंद बघेल सहित हमारे पुरखों ने समृद्ध छत्तीसगढ़ का सपना देखे है। छत्तीसगढ़ गांवों मेें बसता है। जब तक यहां के गांव समृद्ध नही बनेंगे, तब तक छत्तीसगढ़ समृद्ध नहीं हो सकेगा। राज्य सरकार इसी दिशा में तेजी से काम कर रही है। चाहे वह किसानों की कर्जमाफी हो, धान का 2500 रूपए मूल्य, 400 यूनिट तक बिजली बिल हॉफ या फिर 12वीं तक विद्यार्थियों को निःशुल्क शिक्षा। राज्य सरकार छत्तीसगढ़ की चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के संरक्षण और संवर्धन की दिशा में तेजी काम कर रही है। पूरे प्रदेश में 1900 जगहों पर गौठानों का निर्माण किया जा रहा है, 450 गौठान बनकर तैयार हो गए है। ये हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने में अहम भूमिका निभाएंगे। छत्तीसगढ़ के खान-पान और तीज-त्यौहार ही हमारी पहचान है। हरेली से छत्तीसगढ़ में त्यौहार की शुरूआत होती है। इसलिए राज्य सरकार ने भी यह निर्णय लिया है कि इसे बड़े धूम-धाम से मनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के बहुदेद्शीय भवन परिसर में नवनिर्मित अतिरिक्त कमरा का किया लोकार्पण किया और परिसर में नीम का पौधा भी रौपा। मुख्यमंत्री और उपस्थित अतिथियों ने समाज की पत्रिका उम्मीद-4 का विमोचन भी किया। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने कहा कि डॉ. खूबचंद बघेल छत्तीसगढ़ के अस्मिता के प्रतीक है। छत्तीसगढ़ के विकास को जो सपना उन्होंने देखा था उसे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार साकार कर रही है। इस अवसर पर जिला पंचायत रायपुर की अध्यक्ष श्रीमती शारदा देवी वर्मा, पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति श्री केशरीलाल वर्मा, मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ. रामकुमार सिरमौर सहित बड़ी संख्या में मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के पदाधिकारी और ग्रामीणजन उपस्थित थे।

error: Content is protected !!