जमीन वापस मिलने से  निश्चित होकर खेती में जुटा मासो

रायपुर| धुरागांव के श्री मासो टाटा संयंत्र के लिए जमीन अधिग्रहण के बाद भी अपनी जमीन में वर्षों से खेती कर रहा था, लेकिन उन्हें हमेशा जमीन जाने का डर बना रहता था। इस बार मासो पूरे तन-मन से खेती किसानी में जुट गए हैं। उन्होंने बताया कि वर्षों से वह खेती कर रहा है, लेकिन इस बार वह निश्चित होकर खेती करेगा, क्योंकि उन्हें जमीन के कागजात वापस मिल गए हैं।
उल्लेखनीय है कि टाटा स्टील प्लांट के लिए लोहण्डीगुडा तहसील के जिन 1707 किसानों की 1704 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की गई थी, उनमें धुरागांव के श्री मासो की 10 एकड़ जमीन भी शामिल थी। श्री मासो ने बताया कि जमीन जाने का दुख हर किसान को होता है। मेरे लिए तो मेरी जमीन मां समान है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हमारी जमीन वापस कर दी। अब ऐसा लगता है, जैसे मुझे मेरी मां मिल गई है। अब वह पूरे मन खेती करेगा।
 

error: Content is protected !!