मतलब अनर्गल प्रलाप भाजपा की निराशा की वजह : कांग्रेस

०० निराशा और हताशा का दस्तावेज भाजपा कार्यसमिति का प्रस्ताव

०० नैराश्य में अनर्गल झूठे आधारहीन आरोपों का सहारा भाजपा ने लिया

रायपुर। भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा कार्यसमिति का प्रस्ताव निराशा और हताशा का दस्तावेज है। भाजपा ने स्पष्ट कर दिया है कि वह विधानसभा चुनाव की हार के नैराश्य में अनर्गल झूठे आधारहीन आरोपों का भाजपा ने सहारा लिया है। भाजपा ने स्वीकार कर लिया है कि वह निराशा की गर्त में डूब गयी है, इसी के चलते अर्नगल आरोपों का सहारा ले रही है। कार्यसमिति के प्रस्ताव में शराबबंदी पर झूठ को उजागर करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि शराब से आय 375 करोड़ से 5500 करोड़ करने वाली और शराब की सरकारी बिक्री शुरू करने वाली रमन सिंह सरकार में कोचियों की बोलबाला था। बदलापुर और राजनैतिक प्रतिशोध के भाजपा कार्यसमिति के आरोपों पर प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस सरकार ने तो भाजपा सरकार के समय में दर्ज एफआईआर के मामलों की जांच, अंतागढ़ में रमन सिंह सरकार के समय से दर्ज एफआईआर पर नान कानूनी कार्यवाही को भाजपा द्वारा बदलापुर कहा जाना गलत है।

समानता, सदभाव एवं विकासवादी सरकार, विकास एवं गरीबों की सेवा नित नये कीर्तिमान स्थापित करने वाली सरकार में भाजपा के दावों पर प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 15 वर्ष में भाजपा ने छत्तीसगढ़ को सबसे गरीब राज्य बनाया। देश में सबसे ज्यादा राज्य जिसमें भाजपा के 15 साल के शासनकाल में 37 प्रतिशत से 39.9 प्रतिशत देश में सर्वाधिक हो गयी। भ्रष्टाचार कमीशनखोरी के कीर्तिमान जरूर स्थापित किये। कांग्रेस नेताओं की पूरी पीढ़ी की 25 मई 2013 को जीरम घाटी में शहादत हुयी। विद्याचरण शुक्ला, नंदकुमार पटेल, उदय मुदलियार, दिनेश पटेल, योगेन्द्र शर्मा शहीद हुये। रमन सिंह जी की ही सरकार थी। ठीक उसी जगह में माओवादी हमला हुआ था जहां भाजपा सरकार ने सुरक्षा हटा ली थी। भाजपा के विधायक भीमा मंडावी जी की माओवादियों द्वारा हत्या का सबको दुख है। अपने नेताओं की पूरी पीढ़ी को माओवादियों के हाथ गंवाने वाली कांग्रेस से बेहतर इस दर्द को और कौन समझ सकता है। आयुष्मान योजना पर भाजपा कार्यसमिति के प्रस्ताव को खारिज करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक छत्तीसगढ़ देश में आयुष्मान योजना के क्रियान्वयन पर पहले नंबर में आया है। छत्तीसगढ़ में एक लाख में 95 लोगों का इलाज आयुष्मान योजना के द्वारा संभव हुआ है। केंद्र सरकार की नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा जारी किये गये आंकड़े यह बताते हैं कि दूसरे नंबर पर देश में जो राज्य है वहां एक लाख में सिर्फ 26 लोगों का इलाज आयुष्मान योजना से हो पा रहा है। विगत दिनों प्रधानमंत्री मोदी भाजपा उम्मीदवारों के प्रचार के लिए छत्तीसगढ़ आए थे तो उन्होंने आयुष्मान योजना के क्रियान्वयन को लेकर अपने संबोधन में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा था। अब नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के आंकड़े ही बता रहे हैं कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार भूपेश बघेल की सरकार ने आयुष्मान योजना के क्रियान्वयन में पूरे देश में ना केवल सबसे अच्छा काम किया है बल्कि दूसरे स्थान पर आए राज्य से भी छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने कई गुना बेहतर काम किया है। अस्पतालों के भुगतान के मामले में भी छत्तीसगढ़ ने सबसे बेहतर परफॉर्मेंस दिया है और अस्पतालों का पूरे देश में सबसे कम सिर्फ 13 प्रतिशत भुगतान लंबित है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि आगामी नगरीय निकाय और त्रि-स्तरीय पंचायत चुनावों में भी शानदार प्रदर्शन करेगी। अपनी सरकार रहते हुये नगरीय चुनावों में बुरी तरह से पराजय का मुख देखने वाली भाजपा लोकसभा चुनाव के तत्काल बाद हुये कर्नाटक, पंजाब, राजस्थान में हुयी पराजय को स्मरण रखे तो बेहतर होगा। किसानों और प्रदेश की जनता को बोनस, 10 लिटर दूध देने वाली जर्सी गाय, 5 हार्सपावर पंपों की मुफ्त बिजली जैसे मुद्दों पर ठग कर भाजपा ने धोखाधड़ी का एक बड़ा उदाहरण प्रस्तुत किया है। भाजपा बतायें कि घटिया क्वालिटी का चना एवं अमृत नमक बंद कर अच्छी गुणवत्ता का चना और नमक उपलब्ध कराने से भाजपा के पेट में दर्द हो रहा है। हमारी कांग्रेस की सरकार की भाजपा के द्वारा की गयी नोटबंदी की तरह शराबबंदी नहीं करेंगे। दो समितियां भी बनाई गयी है। 14वें वित्त आयोग की राशि निजी कंपनी के मोबाईल टावरों के नाम से 600 करोड़ रू. पंचायतों से लिया जा रहा है निश्चित रूप से यह पैसा पंचायतों को हैं और राज्य के कोष से आता है। बिना सरपंच और सचिव के हस्ताक्षर के निकालना ये संविधान के विपरीत है। पंचायतों के अधिकार में अतिक्रमण है और तीसरी बात यह है कि कोई भी टावर लगाने की निश्चित राशि ली जाती है, लेकिन पंचायतों से अलग-अलग राशि ली गयी थी। जो घोर आपत्तिजनक और अवैधानिक है। रमन सिंह जी ने अपने चहेती कंपनी को लाभान्वित करने के लिये यह असंवैधानिक कृत्य किया था। भाजपा कार्यसमिति के प्रस्ताव पर नौजवानों को गुमराह करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पलटवार करते हुये कहा है कि 1500 सहायक प्राध्यापकों और छत्तीसगढ़ सरकार बनने के बाद पहली बार शिक्षकों के 15000 पदों में भर्ती के निर्देश जारी कर कांग्रेस सरकारों ने नयी अनूठी पहल की है।

error: Content is protected !!