अपने आराध्य देव की जगह को बचाने सड़कों पर उतरे हजारों आदिवासी

संजीव दास दंतेवाड़ा

किरंदुल/बैलाडिला। बैलाडीला की पहाड़ी में प्रचुर मात्रा में लौह अयस्क पाया जाता है यह बात पूरी दुनिया को पता है हाल ही में एनएमडीसी एवं सीएमडीसी की संयुक्त एडवेंचर को इस पहाड़ी को खोदने की अनुमति मिली है इसके लिए भारत की एक बड़ी कंपनी अडानी ग्रुप को लिस मिला है 13 नंबर खदान को अडानी को दिए जाने के विरोध में आज सुबह से हज़ारो की संख्या में आदिवासियों ने एन0एम0डी0सी चेक पोस्ट पहुच कर चक्का जाम कर दिया आदिवासियों का कहना है कि 13 नंबर पहाड़ में उनके आराध्य देव नंदराज है जिनकी ये हज़ारो वर्षो से पूजा करते आ रहे है इस खदान को किसी भी हाल में बिकने नही दिया जाएगा चाहे उसके लिए उनको जान क्यों न देनी पड़े बारिश के बीच भी लोग डटे हुए है बच्चे बड़े महिलाएं सभी अपने घरों से राशन लेकर पहुंचे हैं बड़ी संख्या में आदिवासी ग्रामीण दंतेवाड़ा बीजापुर सुकमा जिले से धरने में शामिल हुआ है प्रशासन ने भी बड़ी अनहोनी से बचने के लिए एसपी अभिषेक पल्लव ने 400 से भी ज्यादा जवानों को चप्पा चप्पा पर तैनात किया है।

error: Content is protected !!