मिलावट खोरी कर किया जा रहा है स्टाप डेम का निर्माण

ग्रामीणों ने की मांग गुणवत्ता की हो जांच

चंद्रकांत गड़वाल

कोरिया। जिले के जनपद पंचायत खड़गवां में महांत्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना से 51 स्टॉप डेम का निर्माण कराया जाना है जिसकी आनुमानित लागत 1013.65 लाख स्वीकृति प्रदान हुई है लेकिन विंडबना यह है कि स्टॉप डेम निर्माण कार्य में लापरवाही के चलते आए दिन मनरेगा विभाग सुर्खियां बटोर रहा है कई जगहों पर स्टॉप डेम निर्माण कार्य जिस स्थान को चिन्हित किया गया है वह स्थान सही नहीं है यहां पर बारिश का एक बूंद पानी भी नहीं रुकता है कई स्टाफ डेमो में बोल्डर का इस्तेमाल किया जा रहा है तो कहीं मैटेरियल को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं तो कहीं पर सूचना पटल नहीं बनाया गया है एसडीओ तकनीकी सहायकों के द्वारा स्टॉप डेम स्थल का निरीक्षण कर जगह चिन्हित करना था पर ऑफिस में बैठे ही जहग कर निरीक्षण किया गया नन सिविल तकनीकी सहायक द्वारा कराया जा रहा स्टाफ डेमो का मूल्यांकन स्टॉप डेम निर्माण कार्य का मूल्यांकन सिविल तकनीकी सहायकों द्वारा कराया जाना है पर खड़गवां विकासखंड में चल रहे निर्माण कार्यों का मूल्यांकन नन सिविल तकनीकी सहायकों द्वारा कराया जा रहा है जिससे स्टॉप डेम निर्माण की गुणवत्ता पर उठ रहे सवाल अघोषित ठेकेदारों द्वारा कराया जा रहा है स्टॉप डेम निर्माण का कार्य स्टॉप डेम निर्माण का कार्य मनरेगा के तहत स्वीकृत हुआ है जिसकी निर्माण एजेंसी ग्राम पंचायत है पर ग्राम पंचायत द्वारा निर्माण कार्य को अघोषित ठेकेदारों को देखकर कार्य कराया जा रहा है जिनके द्वारा निर्माण कार्य की गुणवत्ता को ताक पर रखकर कार्य किया जा रहा है कमीशन चढ़ाने की चर्चाओं को लेकर बाजार गर्मसूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्टॉप डेम निर्माण कार्य का कमीशन एसडीओ लेखापाल से लेकर तकनीकी सहायक एवं कार्यक्रम अधिकारियों तक बांटा जाता है स्टॉप डैम निर्माण कार्य की अगर जांच कराए जाते हैं तो निर्माण कार्य में हो रही लापरवाही साफ साफ नजर आ जाएगी।गौरतलब देखने वाली बात यह है कि जिला प्रशासन भ्रष्टाचार के भेंट चढ़ रहे स्टाफ डेमो का निरीक्षण कब कराता है और दोषियों पर क्य कार्यवाही करता है।

error: Content is protected !!