सेंट्रल बैंक कोटा के कर्मचारी ने ग्राहक से किया दुर्व्यहार

करगीरोड कोटा। पिछले दिनों स्टेट बैंक कर्मचारियो के मनमाने रवैय्ये एवं उनके द्वारा ग्राहको से दुर्व्यवहार के चलते काफी सुर्खियो में रहा जिसकी लोगों ने कडी निंदा भी की थी अब उसी नक्से कदम पर सेंट्रल बैंक कोटा के कर्मचारी भी कर रहे है।करगीरोड कोटा की सेंट्रल बैंक आफ इंडिया की शाखा में पहले काम काज सही तरीके से चल रहा था लेकिन लोगों की माने तो जब से यहां सालिकराम साहू पदस्थ हुए तब से ही ग्राहको से कुछ न कुछ वाद विवाद होते ही रहता है हर समय नियम कानून का धौंस दिखाते रहते है ग्राहको से कडवी जबान में बात करते है उन्हे सालिनता से बात करते शायद ही देखा गया हो बैंक के प्राय: प्राय: ग्राहको को उनके गलत व्यवहार की शिकायत रहती है लेकिन ग्रामीण लोग कुछ कह नही पाते  और लोकल कहना नही चाहते जिसके कारण कर्मचारी अपने मनमाने रवैय्ये से बाज नही आ रहे|

दो दिन पूर्व एक प्रतिष्ठित व्यवसायी के मैनेजर मनोज सोनी नें पैसे जमा करने पहुंचा तो कैश काउंटर में बैठे सालिकराम साहू नें पैसे सही तरीके से नही रखे होने की बात कहते हुए उससे गलत बर्ताव करते  हुए बैंक से निकलने के लिए कहने लगे जो उनकी कार्यप्रणाली को दर्शाता है और इन सब से बैंक के मैनेजर साहब अनजान थे। लोगों का कहना है कि यहां के मैनेजर को भी कोई विशेष मतलब नही रहता मैनेजर साहब हमेशा अपने चेंबर में व्यस्त रहते है बैंक में ग्राहको को क्या समस्या है कर्मचारी कैसा बर्ताव कर रहे है उनको कोई मतलब नही रह गया है कुछ ग्राहको का तो ये भी कहना था कि यहां पदस्थ एक महिला कर्मचारी हर समय मैनेजर साहब के चेंबर पर ही उनके साथ व्यस्त रहती है बाकी समय अगर वह अपने चेंबर पर रहती है तो अक्सर फोन पर बातें करते ही नजर आती  है अब ऐसे में समझा जा सकता है कि ग्राहको का काम कितना होता होगा। ग्राहको को अब यहां भी असुविधाओ का सामना करना पड रहा है पैसे जमा करने निकालने लंबी लाईने लगानी पडती है एक ही काउंटर होने से परेशानी बढ जाती है भीषण गर्मी में भी पानी की कोई व्यवस्था नही है कुछ लोगों ने बताया की भीड के समय पैसे देने वाले सरपंच सचिवों का काम जल्दी कर देते है अब यहां के ग्राहको में भी नाराजगी साफ तौर पर देखी जा सकती है।

 

error: Content is protected !!