तकनीकी बहानेबाजी करके भूपेश बघेल अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते : भाजपा

००  जनता ने उन्हें उत्तर प्रदेश में नेतागिरी बघारने के लिए नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ की व्यवस्था देखने के लिए चुना

रायपुर। भाजपा ने छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल का सर्वर डाउन होने से पीईटी परीक्षा स्थगित होने पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि तकनीकी बहानेबाजी करके भूपेश बघेल अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस द्वारा यह प्रचारित किया जा रहा है कि पीईटी परीक्षा स्थगित करना मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का साहसिक कदम है। कांग्रेस यह परीक्षा स्थगित होने को साहसिक कदम मानते हुए इसका स्वागत करते हैं, इससे बड़ी विडंबना और क्या होगी कि हजारों परीक्षार्थी परेशान हुए और समय पर परीक्षा आयोजित नहीं की जा सकी, इस पर भी कांग्रेस अपने मुख्यमंत्री की पीठ थपथपा रही है।
भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि आखिर भूपेश बघेल कब तक तकनीकी कारणों का हवाला देकर अपना बचाव करते रहेंगे। इसके पूर्व भी ट्रेजरी का सर्वर पखवाड़े भर तक बेकार पड़ा रहा जिससे प्रदेश में आर्थिक अराजकता की स्थिति निर्मित हो गई। दरअसल भूपेश सरकार का नियंत्रण व्यवस्था पर नहीं है। भूपेश सरकार न तो कर्मचारियों का वेतन दे पा रही ना हितग्राहियों को मिलने वाली रकम और न ही विकास कार्यों के एवज में होने वाला भुगतान करवा रही है। इसलिए जानबूझकर कोषालय का सर्वर डाउन करा कर पूरे प्रदेश में अव्यवस्था फैलाई गई। इसी तरह व्यवसायिक परीक्षा मंडल की पीईटी परीक्षा स्थगित करने के पीछे कोई न कोई षड्यंत्र जरूर है और बहाना तकनीकी कारणों का बनाया जा रहा है। यदि तकनीकी कारणों से वेतन भुगतान सहित तमाम तरह के भुगतान रूकते हैं और इसी वजह से छात्रों की परीक्षा प्रभावित होती है तो इसके लिए जिम्मेदार कौन है।
भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा है कि भूपेश बघेल अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं और प्रदेश को भगवान भरोसे छोड़ कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की चाटुकारिता में व्यस्त हैं। इसके पीछे भी कारण यह है कि श्री बघेल यह अच्छी तरह जानते हैं की लोकसभा चुनाव के परिणाम उनका पानी उतार कर रख देंगे। इसके बाद कांग्रेस में जो कुछ होने वाला है, उससे बचाव के लिए ही वे छत्तीसगढ़ के हितों को ताक पर रख कर उत्तर प्रदेश में सक्रिय हैं। छत्तीसगढ़ की जनता ने उन्हें उत्तर प्रदेश में नेतागिरी बघारने के लिए नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ की व्यवस्था देखने के लिए चुना है।

 

error: Content is protected !!