आर-भारत चैनल के दुष्प्रचार के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करूंगा : वर्ल्यानी

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं प्रवक्ता रमेश वर्ल्यानी ने कहा है कि लोक सभा चुनाव के विभिन्न चरणों में लगातार पिछड़ रही भारतीय जनता पार्टी अपनी हार से भयग्रस्त होकर कुछ प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के माध्यम से कांग्रेस की छवि धूमिल करने के लिए अनर्गल एवं झूठे समाचार गढ़कर प्रकाषित एवं प्रचारित करने में लगी हुई है। कांग्रेस पार्टी पर नक्सल समर्थक होने का आरोप मढ़ने साजिश की गयी। जबकि कांग्रेस पार्टी महात्मा गांधी के विचारों की पार्टी है जो अहिंसा में विश्वास करती है। कांग्रेस पार्टी ने झीरम घाटी की नक्सली हिंसा में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर रहे नंद कुमार पटेल, नेता प्रतिपक्ष रहे महेंद्र कर्मा, पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल, पूर्व विधायक उदय मुदलियार सहित बड़ी संख्या में हुई शहादत के दुख को भोगा है। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार नक्सल समस्या को समाप्त करने की दिशा में लगातार काम कर रही है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं प्रवक्ता रमेश वर्ल्यानी ने कहा है कि इसी क्रम में आर-भारत के चैनल ने नक्सल समस्या पर लिए मेरे इंटरव्यू में कही बातों को जानबूझकर तोड़-मरोड़ कर एवं संदर्भ से काटकर इस तरह प्रसारित किया कि कांग्रेस पार्टी नक्सल समर्थक है। जिसका मैं पुरजोर खंडन करता हूॅं। मैने अपने इंटरव्यू में ऐसी कोई बात नहीं कही है।

वर्ल्यानी ने आगे बताया कि आर-भारत चैनल ने कल दिन भर अनर्गल एवं झूठे समाचार को प्रसारित कर कांग्रेस पार्टी और मेरी राजनैतिक छवि को धूमिल करने का प्रयास किया। इससे मेरी राजनैतिक प्रतिष्ठा को गहरा आधात पहुॅंचा है। मैं उक्त चैनल के झूठे प्रसारण के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करने जा रहा हूॅं।  वर्ल्यानी ने आगे बताया कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में पहली बार यह देखा है कि इस चैनल के प्रतिनिधि ने उनका कैमरा इंटरव्यू लेने के साथ-साथ, गुप्त कैमरे से स्टिंग ऑपरेशन किया है और बड़ी बेशर्मी से उसे प्रदर्षित भी किया। स्टिंग ऑपरेषन में मेरे हवाले से बताया गया है कि जिस प्रकार चंबल के डाकुओं ने हिंसा का रास्ता त्याग कर सर्वोदयी नेता जयप्रकाश नारायण के समक्ष आत्मसमर्पण किया और मुख्य धारा में लौटे, ठीक वैसा ही रास्ता अपनाकर नक्सलियों को बंदूक और हिंसा छोड़कर मुख्य धारा में लौटना होगा। इसी को आधार बनाकर आर-भारत का एंकर चिल्ला-चिल्ला कर असत्य कथन कर आरोपित कर रहा है कि कांग्रेस पार्टी नक्सल समर्थक है। प्रेस की आजादी के इस भयावह अवमूल्यन से मैं विचलित एवं परेशान हूॅं कि अगर लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को इस तरह नुकसान पहुंचाया जाता रहा तो लोकतंत्र का भविष्य क्या होगा ?

 

error: Content is protected !!