छत्तीसगढ़ सीमा पर गढ़चिरौली में नक्सलियों ने किया आईईडी विस्फोट, 16 जवान शहीद

००  प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर जताया दुःख, राजनाथ ने कहा गृह मंत्रालय हर मदद के लिए तैयार

रायपुर/कांकेर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में पखांजूर की सीमा से सटे महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। बुधवार दोपहर नक्सलियों ने महाराष्ट्र पुलिस के सी-60 कमांडो के वाहन को आइईडी विस्फोट कर उड़ा दिया। इसमें वाहन में सवार 15 जवान शहीद हो गए हैं। घटना में निजी वाहन चालक के भी मारे जाने की खबर है जबकि 13 जवान घायल हुए हैं। नक्सली इस क्षेत्र में बीती रात से ही उत्पात मचा रहे हैं। मंगलवार रात नक्सलियों ने इसी इलाके में सड़क निर्माण में लगे 27 वाहनों को जला दिया था।

आइजी गढ़चिरौली रेंज शरद शेलार ने वारदात की पुष्टि करते हुए बताया कि महाराष्ट्र पुलिस के सी-60 कमांडो दो निजी बस में सवार होकर कोरसी की ओर जा रहे थे। कोरसी, छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले की सीमा से लगा इलाका है। इस दौरान विस्फोट हुआ और वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।घटना में निजी वाहन चालक समेत 16 जवानों के शहीद होने की सूचना है। जबकि 13 जवान घायल हुए हैं। यहां गढ़चिरौली एरिया कमेटी के नक्सली सक्रिय हैं जो महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ सीमा पर लगातार इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। तीन एरिया कमेटी का सेंटर एरिया है। बताया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने के लिए करीब 150 की संख्या में नक्सली वहां मौजूद थे। घटना में कई जवान घायल भी हुए हैं, जिन्हें उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में दाखिल कराया गया है। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नक्सली हमले पर गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि मेरी पूरी सांत्वना हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय लगातार महाराष्ट्र सीएम फडनवीस से संपर्क में है। हर संभव सहायता के लिए गृह मंत्रालय तैयार है।

पीएम मोदी ने जताया दुख :-  महाराष्ट्र के मंत्री सुधीर मुगंतीवार का कहना है कि इस नक्सली हमले में 15 जवान के शहीद होने की सूचना है। जबकि, ड्राइवर की भी मौत हो गई है। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने कहा कि शहीद हुए बहादुर जवानों को मैं सैल्यूट करता हूं। उन्होंने कहा कि उनकी कुर्बानी को कभी भूला नहीं जा सकता। इस दुखदायी घड़ी में मेरी पूरी सांत्वना शहीद जवानों के परिजनों के साथ है।

 

 

error: Content is protected !!