Uncategorizedधमतरीप्रदेश

वनांचल क्षेत्र मड़वा पथरा में काला धुँआ के चलते उठाना पड़ सकता है क्षेत्र के लोगो को बड़ी परेशानी

आखिर कार्यवाही नही होने के पीछे क्या है माजरा जानकारी के बावजूद क्यों नही हो रही कार्यवाही

मगरलोड। लगातर 15 सालों से सत्ता का वनवाश काटने के बाद सत्ता में आई सूबे की भूपेश सरकार छ ग में वनांचल क्षेत्र के लोगो को मुलभुत सुविधा एवं रोजगार देने का वादा तो सीना तान के किये और कई वादा निभाने में जुटे भी लेकिन वही छग के वनांचल क्षेत्र में ही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत सड़क बनाने वाले ठेकेदारों द्वारा तो कई नियमो का जमकर दुरूपयोग करते साफ नजर आ रहे है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस कार्य में कई प्रशासन के कर्मचारी एवं सत्ताधारी नेता अपनी रोटी सेकने में लगे है रोजगार के नाम पर मजदूरों का शोषण और स्कूल के नजदीक साथ ही पर्यावरण मंत्रालय के नियमो का उलंघन करने का मामला कही और का नही बल्कि यह मामला है मगरलोड विकाशखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत खड़मा आश्रित ग्राम मड़वापथरा की जहाँ दूर से देखने पर पता चलता है कि पी एम जी एस वाय के तहत सड़क का काम बहुत सुंदर और सुचारू रूप से साथ ही लोगो को रोजगार मिल रहा है यह दृश्य हमको अतिश्योकति सा लगा जब हमने इस कार्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने धरातल में उतरे तो दृश्य और कार्य आईने की तरह साफ हो गया कार्य स्थल में 8 से 10 लड़की थी जो द्रवित एवं पेट्रोलियम पदार्थों को अपने हाथों से मिला रही थी पूछने पर बताये की हमने पढ़ाई छोड़ दी है और यहाँ 9 से 6 बजे का ड्यूटी है साथ ही कार्य का पेमेंट 150 रुपया देते है उसके बाद वाला दृश्य झगझोर कर देने वाली थी उगते सूरज के 9 बजे से ढलते 6 बजे शाम तक भट्टी के पास काम करने वाले मजदूर ने बताया कि 3 महीने से वह काम कर रहा है और उनको सास सम्बन्धी बीमारियों से लड़ने कोई एयर मास्क भी उपलब्ध नही हेल्थ चेकप की कोई व्यवस्था नही आखिर मानवाधिकार के शोषण के विरुद्ध अधिकार का हनन क्यों हो रहा है।

क्या जानकारी दिए साइड इंचार्ज

वहां के कर्मचारी ने बताया कि pmgsy के तहत मोहेरा से झोलाबहरा तक यह सड़क बनाई जा रही है जब कॉम्पेक्स पूरा होता है तब डामर बिछा देते है जब हमने साइड इंचार्ज कर्मचारी से पूछा की आपके यहां मजदूरों का एयर मास्क व काम के दस्ताने व हेल्थ चेकप सुविधा उपलब्ध कराए तो कर्मचारी अपना पल्ला झाड़ते नजर आये यह जो भी कार्य होता है अधिकारी जांच कर के करवाते है।

क्या कहते है सरपंच गजेंद्र दिवान

जब मीडिया की टीम सरपंच से जानकारी लेने पहुचे तो सरपंच गजेंद्र दिवान ने बताया कि हमने पंचायत से कोई प्रस्ताव नही दिया है हम नही चाहते ही हमारा गांव प्रदूषित हो हम गांव वालों के साथ गये थे और गांव से बाहर काम करने भी बोले थे बहुत ही जिद्द पर अड़े रहे तो गाव वालो के साथ और पटवारी को सारी जानकारी है उसके बाद तहसील में प्रस्ताव दिए लेकिन वहां से अभी तक कोई जानकारी हमारे पास नही आई है हमारे गांव के डामर प्लांट के नजदीक स्कूल भी है वहां बुरा प्रभाव पड़ रहा है।

तहसीलदार को भी ज्ञात है पूरा मामला

जब डामरप्लांट के सम्बन्ध में हमने पटवारी हरीश सिन्हा से जानकारी चाही तो उसने बताया कि इस कार्य के सम्बन्ध में तहसीलदार को जानकारी है नोटिस जारी भी किये थेउसके बाद इस सम्बन्ध में जब हमने कुरुद अनुविभागीय अधिकारी दुरिचन्द बंजारे से जानकारी चाही तो उन्होंनेे बताया कि डामरप्लांट के बारे में और शिकायत आ चुकी है उनको संज्ञान में लेकर आज ही त्वरित कार्यवाही करने की बात कही।

Related Articles

Back to top button