भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा मगरलोड विकासखण्ड के ग्राम कमारिनमुड़ा का चेक डेम

00 दो वर्ष में ही टूट गया चेक डेम घटिया मटेरियल का उपयोग

00 किसानों ने ठेकेदार और अधिकारियों के ऊपर उचित कार्यवाही की मांग

विशेष संवाददाता

धमतरी मगरलोड। भूमि संरक्षण विभाग धमतरी द्वारा हरित क्रांति विस्तार योजना के तहत सन् 2016 -17 में मगरलोड विकासखण्ड के ग्राम पंचायत बिरझुली के आश्रित गांव कमारिनमुड़ा (कुसुमखुटा) में किसानों को पानी की सुविधा मिले इसलिए पनखट्टी नाला में 14 .99 लाख रुपये की लागत राशि से चेक डेम का निर्माण करवाया गया था लेकिन चेक डेम दो वर्ष में ही टूट गया चेक डेम निर्माण में विभाग द्वारा घटिया मटेरियल का उपयोग किया गया है जिसके चलते इस वर्ष के बरसात में चेक डेम टूट कर बिखर गया है चेक डेम निर्माण कार्य में जमकर भ्रष्टाचार किया गया|

मिली जानकारी के अनुसार चेक डेम निर्माण कार्य विभाग द्वारा ठेकेदार के माध्यम से बनवाया गया था निर्माण कार्य मे ठेकेदार और अधिकारियों की मिलीभगत से चेक डेम निर्माण में गुववत्ता का पालन नही किया गया घटिया मटेरियल का उपयोग किया गया था जिसका परिणाम चेक डेम दो वर्ष में ही टूट गया प्रश्न यह उठता है कि चेक डेम के टूटने का जिम्मेदार कौन है डेम के टूटने से भीषण गर्मी में किसानों को पानी के लिये मोहताज होना पड़ रहा है किसान गौतम ध्रुव, महेश्वर ध्रुव, पंच देवेन्द्र नेताम, सोमकुमार ध्रुव, गुलाब ध्रुव, सुरेश ध्रुव, सन्तराम, सुकलाल ध्रुव, नोहर राम, रामाअधीन, कमलसिंग ध्रुव, मनीराम ध्रुव, सुखुराम और माखन ध्रुव ने चेक डेम की उचित जाँच की मांग और ठेकेदार और अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही के लिए कलेक्टर और मुख्यमंत्री से शिकायत करने की बात कही है|

इस संबंध में भूमि संरक्षण अधिकारी संतलाल देशलहरे ने कहा कि चेक डेम निर्माण कार्य मेरे कार्यकाल में नही हुआ है फिर भी चेक डेम की स्थिति का जायजा लेता हूं।

error: Content is protected !!