प्रज्ञा ठाकुर द्वारा शहीद करकरे के अपमान के लिये मोदी, शाह देश से माफी मांगे : कांग्रेस

रायपुर। भाजपा नेत्री साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के द्वारा 26/11 के आतंकी हमले में शहीद हेमंत करकरे के लिये दिया गया अपमानजनक बयान भाजपा के छद्म राष्ट्रवाद की असली हकीकत है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा नेत्री प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान के लिये नरेन्द्र मोदी और अमित शाह देश की जनता और शहीद करकरे के परिजनों से माफी मांगे। देशभर में घूम-घूम कर शहीदों के नाम पर वोट मांगने वाले नरेन्द्र मोदी और भाजपा नेता जवाब दें कि वे अपनी एक लोकसभा की प्रत्याशी के इस बयान से कितना इत्तेफाक रखते है। प्रज्ञा ठाकुर के बयान के बाद भाजपा नेतृत्व की चुप्पी इस बात का प्रमाण है कि भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व की सहमति से उन्होने शहीद करकरे के लिये इस प्रकार का अपमानजनक बयान दिया है।

एक जाबांज पुलिस अधिकारी जिसने आतंकवादियों से लड़ते हुये अपने प्राणों का बलिदान दे दिया, ऐसे शहीद की मौत की कामना करके भाजपा नेत्री ने यह जतला दिया कि भाजपा की निगाह में देश के लिये मरने मिटने वाले लोगों की अहमियत उनके निजी हितों से बढ़कर नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के लिये सत्ता में आना और चुनाव जीतना सर्वोपरि है। इसके लिये भाजपा के नेता किसी भी स्तर तक जा सकते है। कभी धर्म के नाम पर वोट मांग रहे हैं, कभी जाति के आधार पर, अब तो वे राष्ट्रवाद के नाम पर वोट मांग रहे है। लेकिन भाजपा के राष्ट्रवाद में देश के लिये बलिदान होने वालों का न कोई स्थान है और न कोई सम्मान।  प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अपनी पांच साल की नाकामियों और वायदाखिलाफी को छुपाने के लिये भारतीय जनता पार्टी के नेता जिन शहीदों और जवानों के पुरूषार्थ को अपना निजी पराक्रम बता कर देश की जनता से वोट मांगते घूम रहे है, कम से कम उन जवानों और शहीदों के लिये आदरभाव तो रखें।

error: Content is protected !!