चौकीदार के डर से बौखलाए, चोरो की मंडली के सूबेदार : श्रीचंद सुन्दरानी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा अपने सामने ही जनता द्वारा मोदी मोदी के नारे लगाये जाने पर बौखलाकर जशपुर में मंच से चौकीदार चोर है जैसे नारे लगाने को उनकी हताशा का परिणाम बताते हुए भाजपा ने मुख्यमंत्री के इस व्यवहार की कड़ी निंदा की है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से बौखलाए राहुल गांधी जिस तरह आपा खोकर बदमिजाजी दिखा रहे हैं, उसी तरह छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल ने भी अपना दिमागी संतुलन इस कदर खो दिया है कि वे यह समझ ही नहीं पा रहे हैं कि स्वयं किस पद पर हैं और प्रधानमंत्री के पद की क्या गरिमा होती है। वैसे भी जब कांग्रेसी अपने ही प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का सरेआम अनादर करते रहे हो और नरसिंह राव जैसे प्रधानमंत्री के प्रति नकारात्मक सोच रखते रहे हो और हद दर्जे की चापलूसी दिखाते हुए अपने ही अध्यक्ष सीताराम केसरी को कुर्सी से घसीट कर सोनिया गांधी को अध्यक्ष बना कर दिखा चुके हो, उनसे विरोधी विचारधारा के जन नेता के प्रति सम्मान दिखाने की उम्मीद नहीं की जा सकती लेकिन प्रधानमंत्री की गरिमा और अपने पद की मर्यादा का ख्याल रखने की अपेक्षा भूपेश बघेल से थी।मगर वह भी उसी संस्कार का प्रदर्शन कर बैठे जो उन्हें उनकी पार्टी से मिला है।

सुंदरानी ने कहा कि अगर भूपेश बघेल यह समझते हैं कि चौकीदार चोर है का नारा लगाने से छत्तीसगढ़ और देश की जनता उनकी बातों में आ जाएगी तो उनकी बुद्धि पर तरस आता है। चोरों की ऐतिहासिक मंडली का सूबेदार चौकीदार चोर है के नारे लगवा रहा है, इससे हास्यास्पद बात और क्या होगी। गरीब किसानों की जमीन दबाने से लेकर कर्ज माफी के नाम पर उन्हें धोखा देने वाले भूपेश बघेल ने जशपुर में आज जिस तरह से राजनीतिक मर्यादा को तार-तार किया है उसका जवाब तो उन्हें लोकसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ की जनता देगी ही लेकिन एक मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री के विरुद्ध मंच से सार्वजनिक तौर पर इस तरह का लांछन लगाना सीधे तौर पर देश की जनता और देश के प्रधानमंत्री की मानहानि का मामला है। प्रधानमंत्री को चोर कहने वालों को जनता की अदालत में दंड मिलने वाला है और लोकसभा चुनाव के परिणाम के बाद यह साबित हो जाएगा कि चोर चोर का शोर मचाने वाले खानदानी राजनीतिक चोर ही पहले देश की जनता को लूटते रहे और अब छत्तीसगढ़ को भी लूट रहे हैं।

error: Content is protected !!