प्रदेश की कांग्रेस सरकार को हर मोर्चे पर विफल, बनी ‘वसूली-सरकार’ : धरमलाल कौशिक

०० प्रदेश का खजाना खाली करके प्रदेश सरकार के मुखिया कांग्रेस का खजाना भरने चला रहे हैं नित-नई स्कीम

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने फिर प्रदेश की कांग्रेस सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताकर उसे ‘वसूली-सरकार’ कहा है। पार्टी ने कहा कि प्रदेश का खजाना खाली करके अब प्रदेश सरकार के मुखिया कांग्रेस का खजाना भरने की नित-नई स्कीम चला रहे हैं। सीमेंट की कीमतों में 15 रुपए प्रति बोरी की गुपचुप बढ़ोतरी इसी स्कीम की देन है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि प्रदेश में इन दिनों कांग्रेस सरकार के संरक्षण में वसूली के नाम पर आतंक मचाया जा रहा है और कांग्रेस के समर्थक अराजक तत्व बलवा-मारपीट तक करने पर उतारू हो रहे हैं।

कौशिक ने कहा कि शराब की निर्धारित दर से 50 रुपए से अधिक तक पर बिक्री करा के उस अवैध कमाई से कांग्रेस के लिए फंडिंग करने वाली भूपेश सरकार अब प्रदेश के कोयला व्यापारियों से 10 रुपए प्रति टन और सीमेंट कारोबारियों से 15 रुपए प्रति बोरी वसूलने में लगी है। सरकारी खरीद में भी अफसरों की सांठगांठ से कमीशनखोरी करने वाली सरकार दीगर व्यापारियों से भी जबरिया चंदा उगाही कर रही है। आतंक, बलवा और मारपीट की नौबत के चलते लोग ‘भूपेश टैक्स’ के नाम पर चंदा और पैसा देने के लिए विवश किए जा रहे हैं। प्रदेश में सीमेंट की प्रति बोरी कीमत में 15 रुपए की गुपचुप बढ़ोतरी करके राज्य की भूपेश सरकार ने महंगाई का आगाज कर दिया है। कौशिक ने कहा कि अपनी महज 70 दिन के शासन में भूपेश सरकार ने प्रदेश का खजाना खाली करके 7 बार में साढ़े सात हजार करोड़ का कर्ज ले लिया। इसी कर्जे की बदौलत उसने कांग्रेस के उस अखबार को 50 लाख रुपए का विज्ञापन दे दिया, यह कांग्रेस का वही अखबार है,जिसकी आड़ में किए गए फर्जीवाड़े के चलते कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और मौजूदा अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों जमानत पर हैं। अपने इन जमानतशुदा नेताओं की चाटुकारिता में लगे अश्लील सीडी कांड के आरोपी जमानतशुदा मुख्यमंत्री प्रदेश की बेहाल कानून-व्यवस्था से बेखबर सत्ता के मद में चूर होकर सियासी नौटंकिया कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से खजाना खाली करने के बारे में सवाल उठाकर भूपेश सरकार फिर प्रदेश में झूठ और भ्रम की की राजनीति पर आमादा नजर आ रही है। पहले भूपेश यह बताएं कि पिछले जनवरी माह से बंद ट्रेजरी का सर्वर अब तक चालू क्यों नहीं किया गया? सर्वर बंद होने के कारण हजारों करोड़ रुपए का भुगतान अफसर-कर्मी, विधायकों के वेतन आदि का भुगतान तीन माह से नहीं हो पा रहा है। इसके लिए कौन जिम्मेदार है?प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ को बदलने का नारा देकर समृध्द छत्तीसगढ़ को कंगाल छत्तीसगढ़ में बदलकर रख दिया। छत्तीसगढ़ के साथ किए गए कांग्रेस सरकार के इस छलावे के पाप की सजा लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता देगी।

error: Content is protected !!